यूएन में यूक्रेन के राजदूत ने भारतीय छात्र की मौत पर जताया दुख, रूसी हमले को बताया नरसंहार


यूक्रेन के कई शहरों को रूस तबाह करने की कोशिश में जुटा है. इसी कोशिश में यूक्रेन के खारकीव में भारतीय छात्र की भी मौत हो गई. जिसे लेकर अब यूएन में यूक्रेन के राजदूत ने दुख जताया है. यूक्रेन की तरफ से कहा गया कि, हम काफी दुखी हैं कि रूस की सेना की तरफ से हुई बमबारी में भारतीय छात्र की मौत हो गई. हम भारत और छात्र के परिवार के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त करते हैं. साथ ही उन्होंने रूस के हमले को एक नरसंहार बताया. 

रूस की गोलाबारी का शिकार हुआ भारतीय छात्र
बता दें कि यूक्रेन के खारकीव शहर में रूस ने अपनी बमबारी बढ़ा दी है, जब भारत के कर्नाटक से आने वाले छात्र नवीन खाने की तलाश में बाहर निकले थे तो एक रूसी गोला आकर उनके पास गिरा. इस ब्लास्ट में नवीन की मौके पर ही मौत हो गई, इसके अलावा कुछ लोग घायल भी हुए. भारतीय छात्र की मौत के बाद विदेश मंत्रालय ने इसकी जानकारी दी. जिसके बाद हर तरफ से इसे लेकर विरोध जताया गया. 

विदेश मंत्रालय ने की थी बात 
भारतीय छात्र की मौत के बाद विदेश मंत्रालय ने भारत में यूक्रेन और रूस के राजदूतों को तलब किया. साथ ही इस मौत को लेकर कड़ा विरोध भी जताया. भारत सरकार की तरफ से दोनों देशों के दूतावासों को बताया गया कि भारतीयों को निकालने के अभियान में पूरी मदद करें. भारत ने कहा कि, भारतीय छात्रों को प्रभावित इलाकों से निकालने के लिए सेफ पैसेज दिया जाए. बता दें कि अब तक हजारों छात्र और अन्य भारतीय लोग यूक्रेन के अलग-अलग हिस्सों में फंसे हुए हैं. जिन्हें पड़ोसी देशों की मदद से रेस्क्यू किया जा रहा है. इसके लिए भारत सरकार की तरफ से मिशन गंगा चलाया जा रहा है. 

ये भी पढ़ें – 

Ukraine Russia War: यूक्रेन संकट पर पीएम मोदी की बड़ी बैठक, भारतीयों की वापसी पर चर्चा

Russia Ukraine War: रूसी हमले के बीच आज ही एंबेसी ने भारतीयों को खारकीव खाली करने को क्यों कहा? विदेश मंत्रालय ने किया खुलासा

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.