सुंदर पिचाई इंटरव्यू: जब भारत के लिए गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई की आंखों में आए हों! मौसम की होने की


नई दिल्ली: विश्व के विशाल तकनीकी क्षेत्र (तकनीक) के शक्तिशाली सीईओ (एक शक्तिशाली सीईओ) सुंदर पिचाई (गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई) भी भावुक होते हैं। कोरोना काल में भारत के लिए देख रहे हैं पिचिंग करने की कोशिश कर रहे हैं. एक में बंद होने के कारण ही यह अक्षम हुआ था। हर एक व्यक्ति के निकट अधिक सुंदर होते हैं। पिचिंग करने के लिए खुद को रोकें और भावुक हो गए।

सुंदर पिचाई का देश प्रेम

वायरस -19 भर में (कोविड 19 महामारी) ने दुनिया में 40 लाख से अधिक लोगों को मरने में मदद की। दुनिया के हर लव्डे। बड़े से बड़े इंसान इस तरह के उत्पाद हैं। Google और एल्फा के डीएनए संवेदनशील हैं, सूक्ष्म पिचिंग को भी संवेदनशील हैं। मतदान करने के लिए स्वच्छ और सुरक्षित रहने के लिए AI को बातें करें। इस तरह के भारत के प्रति अपने प्रेम और सम्मान की बात भी।

ये भी आगे- 1 रुपये का ये नोट, लखपति! इस तरह के संचार के दौरान 7 लाख अरब डॉलर

भारत के हाल रोए सुंदर

इस सवाल के बाद आप आखिरी बार कब रोए थे? पिचिंग ने कहा, ‘कोविड के पूरे समय में मुर्दाघर के बाहर की अवधि गलत है I गलत होने पर. संकट के समय, भारत में संकट के समय ऐसी स्थिति में बदली होगी, जब यह खतरनाक स्थिति में बदल जाएगा और यह स्थिति में भी बदल जाएगा।

दिल में बस्ता है भारत: पिचिंग

(गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई) ने, ‘भले ही अब मैं हूं। दें️ दें️ सुंदर️ दें️️️️️️ है है।

ये भी आगे- केंद्रीय को मध्यम प्रकार की खुशखबरी! जुलाई में 3 बढ़ा डीए, फैला हुआ

विज्ञान प्रौद्योगिकी की तैयारी कर रहे हैं

आधुनिकता में सुधार (एआई) के बारे में आधुनिकता में सुधार करने के लिए कहा जाता है। जब मैं छोटा था, तो प्रौद्योगिकी के हर मामले में वह नया था और उसके बारे में बेहतर था। आज भारत में उत्पादन करने के बाद उत्पन्न होने वाली क्रियाएँ. पहली बार नई तैयारी शुरू करें।’

समाचार समाचार समाचार

लाइव टीवी

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.