CBI की सप्लीमेंट चार्जशीट में कई रसूखदारों के नाम, कई कॉलजों के संचालक भी – News18 हिंदी


भोपाल. मध्य प्रदेश के शिक्षा जगत के सबसे बड़े व्यापमं घोटाले में सीबीआई ने भोपाल जिला कोर्ट में एक सप्लीमेंट चार्जशीट पेश की. यह सप्लीमेंट चार्जशीट 160 आरोपियों के खिलाफ पेश की गई है. अब आरोपियों को एक समय सीमा में कोर्ट में पेश होगा. इसके आदेश जारी कर दिए गए हैं. ये चार्जशीट पीएमटी परीक्षा 2013 में हुए फर्जीवाड़ा से जुड़ी हुई है. इसे विशेष न्यायाधीश नीतिराज सिंह सिसौदिया की अदालत में पेश किया गया. आरोपियों पर धारा- 419, 420, 467, 468, 471, धारा-120 बी और परीक्षा अधिनियम सहित अन्य धाराओं में आरोप दर्ज हैं. सीबीआई की ये चार्जशीट 2000 पेज की है.

इस सप्लीमेंट चार्जशीट में सीबीआई ने उन अतिरिक्त आरोपियों को भी जोड़ा है, जो एसटीएफ की जांच ने शामिल नहीं किए गए थे. गौरतलब है कि सीबीआइ ने इस मामले में 81 नए आरोपी बनाए.  इनमें व्यापमं के तत्कालीन नियंत्रक पंकज त्रिवेदी, चिकित्सा शिक्षा विभाग के तत्कालीन अधिकारी एससी तिवारी और बीएन श्रीवास्तव, इंडेक्स, चिरायु,पीपुल्स मेडिकल कॉलेज के संचालक, एडमिशन कमेटी के सदस्य, बिचौलिये और परीक्षार्थियों के परिचित और लाभार्थियों के नाम शामिल हैं.

ये है पूरा मामला

बता दें, पीएमटी परीक्षा 2013 मामले में 31 अक्टूबर 2017 को विशेष अदालत में 592 लोगों के खिलाफ 1500 पेज का चालान पेश किया था. कोविड प्रोटोकॉल के तहत आरोपियों को अदालत में पेश होने के लिए नोटिस जारी नहीं किए गए थे. अब अदालत ने आरोपियों को पेश होने के लिए 22 फरवरी से लेकर 22 मार्च तक की पेशी तारीखें तय की हैं. दरअसल, व्यापमं की परीक्षा के दौरान तमाम स्तर पर फर्जीवाड़ा हुआ था. इसमें निचले लेवल से लेकर बड़े स्तर तक के लोग शामिल थे. एसटीएफ ने कई बड़े लोगों पर एफआई आरदर्ज नहीं की, लेकिन सीबीआई ने जब जांच अपने हाथ में ली तो इन बड़े लोगों को भी आरोपी बनाया गया.

आपके शहर से (भोपाल)

मध्य प्रदेश

मध्य प्रदेश

Tags: Bhopal news, Mp news

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.