Gurugram News: सालों से बंद पड़े मकान में मिले 2 जिंदा हैंड ग्रेनेड, 17 प्रैक्टिस ग्रेनेड टॉइलट में पड़े मिले


गुड़गांव: सेक्टर-31 में कई वर्षों से बंद पड़े मकान में 2 हैंड ग्रेनेड मिलने से पूरे एरिया में सनसनी फैल गई। पुलिस टीम ने तुरंत अधिकारियों को सूचना दी। बम निरोधक दस्ते को बुलाकर चेक किया तो टॉइलट के अंदर सीट पर रखे 2 जिंदा हैंड ग्रेनेड और नीचे 17 प्रैक्टिस हैंड ग्रेनेड पड़े हुए थे। बाद में सावधानी के साथ वहीं पास में ही एक प्लॉट में तीन गड्ढे खोदकर इन सबको नष्ट कर दिया गया।

दरअसल रविवार की रात को दिल्ली-जयपुर हाइवे किनारे सेक्टर-31 स्थित सीएनजी पंप पर सो रहे 3 कर्मचारियों की हत्या कर दी गई थी। ऐसे में पुलिस की कई टीमें आसपास के एरिया में सर्च कर रही थीं। सेक्टर-39 क्राइम ब्रांच के इंचार्ज रहे एसआई राजकुमार को सूत्र से मंगलवार सुबह सूचना मिली। सूत्र ने बताया कि सीएनजी पंप के पीछे ग्रीन बेल्ट के साथ लगते मकान में कुछ विस्फोटक है। एसआई राजकुमार इस मकान में पहुंचे और सर्च किया तो वहां 2 हैंड ग्रेनेड मिले। सूचना तुरंत अधिकारियों को दी गई। तब डीसीपी ईस्ट, क्राइम, एसीपी सदर, क्राइम ब्रांच की टीमें व बम निरोधक दस्ता मौके पर पहुंचा।

मकान के आस-पास सड़क को दोनों ओर से पुलिस ने बंद कर दिया। मकान के पास किसी को आने-जाने नहीं दिया गया। डॉग स्क्वॉड को बुलाकर पूरे एरिया को चेक कराया गया। टीम को 15 प्रैक्टिस हैंड ग्रेनेड भी मिले। यहां से 43 खाली खोल व 1 आईकैट स्ट्रिप भी मिली। सूत्रों की मानें तो मकान के फर्श पर काफी धूल जमा थी। ऐसे में ये माना जा रहा है कि काफी समय से यहां कोई आया गया नहीं, लेकिन अब ये समझ नहीं आ रहा कि बंद पड़े मकान में विस्फोटक किसने रख दिये।

विस्फोट कर इन्हें नष्ट किया गया
बम निरोधक दस्ते की टीम ने सभी हैंड ग्रेनेड को बाहर निकालकर रखा। फिर करीब 1 हजार गज के इस प्लॉट के परिसर में गड्ढा खुदवाया गया। इसमें ये रखे गए। फिर गड्ढे में मिट्टी भरवाकर विस्फोट कर इन्हें नष्ट कर दिया गया।

चार्टर्ड अकाउंटेंट का है प्लॉट
पुलिस ने हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण से रेकॉर्ड चेक कराया तो ये प्लॉट नंबर पी-12 रविंद्र अग्रवाल का पता चला है। उनसे संपर्क किया तो पता चला कि वे पेशे से चार्टर्ड अकाउंटेंट हैं। दिल्ली के रोहिणी में रहते हैं। उनसे संपर्क कर पुलिस की तीन टीम दिल्ली में उनके पास पहुंच गई हैं। जहां उनसे दिल्ली पुलिस की मदद से पूछताछ की जा रही है।

डीसीपी बोले, जांच की जा रही है
डीसीपी ईस्ट विरेंद्र कुमार ने कहा कि मौके से कुछ विस्फोटक मिले हैं। इन्हें नष्ट कर दिया गया है। हैंड ग्रेनेड व अन्य हथियार कहां से आए ये चेक किया जा रहा है।

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.