Kirit Somaiya: लवासा मामले में पवार पर FIR कब? मुंबई सीपी का ट्रांसफर क्यों हुआ? किरीट सोमैया के तीन सवाल


मुंबई: एक तरफ मंगलवार की सुबह शिवसेना(Shivsena) के सांसद संजय राउत(Sanjay Raut) ने दिल्ली में बीजेपी(BJP) और केंद्र सरकार पर हमला बोलते कहा कि दूसरों पर कीचड़ उछालने उछालने वालों के हाथ कितने गंदे हैं यह भी देश को पता चलना चाहिए। सोलापुर से बीजेपी नेता और विधान परिषद में नेता प्रतिपक्ष प्रवीण तरीका ने कहा कि महाराष्ट्र(Maharashtra) सरकार की तरफ से दाऊद(Dawood Ibrahim) से रिश्ता रखने वाले लोगों को बचाने का प्रयास किया जा रहा है। लिहाजा बीजेपी(BJP) ने मलिक हटाओ देश बचाओ अभियान शुरू किया है। अब इस लड़ाई में महाविकास अघाड़ी नेताओं पर आरोपों की झड़ी लगाने वाले किरीट सोमैया(Kirit Somaiya) भी कूद गए हैं। उन्होंने सवाल उठाया कि लवासा मामले में शरद पवार(Sharad Pawar) पर एफआईआर कब दर्ज होगी? मुंबई पुलिस कमिश्नर का तबादला क्यों किया गया?

पहला सवाल- किरीट सोमैया आरोप लगाते हुए कहा कि राज्य की जनता को कल पता चला कि नील सोमैया निर्दोष हैं। उन्हें मुंबई पुलिस ने आरोपी नहीं बनाया इसलिए उनका तबादला कर दिया गया। संजय राउत को यह मान लेना चाहिए कि वे नौटंकीबाज़ हैं। सोमैया ने पूछा कि कौन सा गेम शुरू हुआ है? जिस कांट्रेक्टर को ईडी ने बंदूक दिखाई वो कहां है? उन्होंने कहा कि यह दिखाने का प्रयास शुरू है कि मोदी सरकार पीछे लगी है, फिर पुलिस कमिश्नर को क्यों ट्रांसफर कर दिया गया। इस बात का खुलासा करिए।

दूसरा सवाल- किरीट सोमैया ने कहा कि उद्धव ठाकरे अगर पुलिस कमिश्नर भी बन गए तो भी उन पर कार्यवाही नहीं कर सकते हैं मेधा सुमैया अनिल सुमैया वर करवाई नहीं कर सकते हैं क्योंकि घोटाले करने का काम उतर ठाकरे का है। एमवीए के भ्रष्ट नेताओं पर कार्रवाई कब होगी यह बताइए। सोमैया ने कहा कि श्री पाटणकर ने हवाला के जरिये पैसे ट्रांसफर किए। बहुत जल्द वरुण सरदेसाई के सबूत भी सामने आएंगे।

तीसरा सवाल- सोमैया ने कहा कि लवासा के संबंध में हाई कोर्ट का जजमेंट आया है। जिन्होंने भ्रष्टाचार किया है, वह अजीत पवार, शरद पवार, ठाकरे सरकार के पाटनर हैं। जिन्होंने लवासा के लिए सत्ता का दुरुपयोग किया। उनके ऊपर एफआईआर दर्ज होने तक मैं खामोश नहीं बैठूंगा।

किरीट सोमैया

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.