Putin Nuclear Weapons: पुतिन के पास है 4 हजार परमाणु बमों का जखीरा, 20 मिनट में ब्रिटेन को कर सकते हैं तबाह


लंदन/मास्‍को
रूस के राष्‍ट्रपति व्‍लादिमीर पुतिन के परमाणु बमों को ‘युद्धक ड्यूटी’ में लगाने के फैसले से दुनिया में दहशत का माहौल है। शीतयुद्ध शुरू होने के बाद दुनिया ने यह मान लिया था कि ‘एक-दूसरे को तबाह करने’ के खतरे के कारण विश्‍वभर में परमाणु युद्ध नहीं होगा। इस बीच यूक्रेन में जारी भीषण हमले के दौरान रूसी राष्‍ट्रपति के परमाणु बमों को अलर्ट करने के ऐलान को दुनिया में बहुत गंभीरता से लिया जा रहा है। वह भी तब जब रूस के पास दुनिया में सबसे ज्‍यादा 4,477 परमाणु बम हैं।

यूक्रेन में रूस के हमले का वहां की सेना करारा जवाब दे रही है और यही नहीं पश्चिमी देश इसके खिलाफ लगातार एकजुट हो रहे हैं। पुतिन ने जब हमले का ऐलान किया तो उस समय पश्चिमी देशों को चेतावनी दी थी कि अगर नाटो देशों ने सैन्‍य रूप से हस्‍तक्षेप किया तो उन्‍हें इतिहास में सबसे गंभीर परिणाम भुगतने होंगे। ऐसे में अब यह सवाल उठ रहा है कि क्‍या पुतिन की धमकी दुनिया में सच होने जा रही है। ऐसा तब है जब रूस के पास हर परिस्थिति से निपटने के लिए हथियार मौजूद हैं।
Russian Military Convoy: कीव पर भीषण हमले की तैयारी में रूस, यूक्रेन की सड़कों पर दिखा 64 किमी लंबा काफिला
जमीन, सबमरीन और प्‍लेन के जरिए दागे जा सकते हैं एटम बम
रूस के पास इस समय 4,477 परमाणु हथियार हैं। अमेरिका के फेडरेशन ऑफ अमेरिकन साइंटिस्‍ट की ताजा रिपोर्ट के मुताबिक रूस के पास मौजूद कुल 4,477 परमाणु बमों में 2,565 स्‍ट्रेटज‍िक और 1,912 नॉन स्‍ट्रेजिक हैं। इसमें कहा गया है कि रूस अपने परमाणु बल और उसके आधारभूत ढांचे में तेजी से आधुनिकीकरण कर रहा है। इन परमाणु बमों को जमीन, सबमरीन और प्‍लेन के जरिए दुश्‍मन के ठिकाने पर गिराया जा सकता है।

इसके अलावा रूस के पास कई ऐसे नॉन स्‍ट्रेटज‍िक परमाणु बम हैं जो युद्ध में तुरंत तैनात किए जा सकते हैं और वे बहुत कम ही इलाके में तबाही मचाते हैं। इनसे रेडियो एक्टिव विक‍िरण भी कम होता है। ये परमाणु बम नागरिक ठिकानों को बर्बाद करने की बजाय सैन्‍य क्षमता को तबाह करते हैं। ये लैंडमाइन से लेकर टारपीडो तक हो सकते हैं। हालांकि अभी तक इनका जंग में इस्‍तेमाल नहीं किया गया है।
Putin Xi Jinping News: डूबते रूस को सिर्फ चीन का सहारा! कब तक पुतिन का साथ दे पाएंगे शी जिनपिंग ?
ब्रिटेन पर मात्र 20 मिनट, अमेरिका पर 30 मिनट में हमला करने में सक्षम
रूस के पास इतने खतरनाक परमाणु बम हैं जिनको लंबी दूरी तक मार करने वाली शक्तिशाली मिसाइलों के जरिए दागा जा सकता है। ये मिसाइलें इतनी ज्‍यादा ताकतवर हैं कि उनसे ब्रिटेन को मात्र 20 मिनट में और अमेरिका को 30 मिनट में निशाना बनाया जा सकता है। रूस ने इन हथियारों के नाम भी जानबूझकर बहुत डरावने रखे हैं। इनमें से एक का नाम तो ‘शैतान’ है। ये हथियार पूरे शहर को तबाह करने के लिए बनाए गए हैं। हालांकि अगर पुतिन इन परमाणु बमों का इस्‍तेमाल करते हैं तो उन्‍हें लिए भी बहुत बड़ा खतरा पैदा हो जाएगा।

पुतिन यह अच्‍छी तरह से जानते हैं कि नाटो देशों के पास भी उतने ही खतरनाक परमाणु बम मौजूद हैं। अमेरिका के पास हजारों के तादाद में परमाणु बम हैं और उसने 100 परमाणु बमों को बिल्‍कुल अलर्ट मोड में यूरोप में तैनात भी कर रखा है। इसके अलावा ब्रिटेन के पास 225 और फ्रांस के पास 290 परमाणु बम हैं। हालां‍कि पुतिन को नाटो के पलटवार का डर नहीं है। साल 2018 में पुतिन ने कहा था कि वह अपने देश को परमाणु हमले में तबाह होने से नहीं डरते हैं।


क्‍या सच में परमाणु हमला कर सकत हैं पुतिन, जानें व‍िकल्‍प
ब्रिटिश रक्षा विशेषज्ञ हेनरी जैक्‍शन ने कहा कि खतरा तब ज्‍यादा बढ़ सकता है जब नाटो सीधे तौर पर यूक्रेन की जंग में शामिल हो। पुतिन ने पश्चिमी देशों को संदेश दिया था कि वे इस पूरे मामले से दूर रहें क्‍योंकि अगर आपने हस्‍तक्षेप किया तो हम अपनी कार्रवाई को तेज करेंगे। एक अन्‍य विशेषज्ञ पावेल फेलगेनहौअर कहते हैं कि पुतिन के पास एक विकल्‍प यह है कि वह यूरोप की गैस सप्‍लाई को काट दें। इससे वह यह उम्‍मीद कर सकते हैं कि यूरोप के देश झुकेंगे। साथ ही उनके पास दूसरा विकल्‍प यह है कि वह नॉर्थ सी में ब्रिटेन और डेनमार्क के बीच कहीं पर परमाणु बम गिरा दें, फिर देखें कि क्‍या होता है।

putin-russia

पुतिन ने अपनी परमाणु सेना को अलर्ट किया

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.