Corona Updates: जून में आ सकती है कोरोना की चौथी लहर, आईआईटी कानपुर की स्टडी में दावा



कोरोना की चौथी लहर 22 जून 2022  से शुरू होकर 24 अक्टूबर 2022 तक चलेगी। यह 23 अगस्त के आसपास अपने पीक पर होगी।

भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान कानपुर के शोधकर्ताओं ने एक अध्ययन में दावा किया है कि देश में कोरोना वायरस संक्रमण की चौथी लहर जून में आ सकती है और अगस्त के मध्य तक यह उच्च स्तर पर पहुंच सकती है।

यह अध्ययन मेडरिव पत्रिका में प्रकाशित हुआ है और कहा जा रहा है कि चौथी लहर चार महीने तक चल सकती है। आईआईटी कानपुर के गणित और सांख्यिकी विभाग के सबरा प्रसाद राजेशभाई, सुभरा शंकर धर और शलभ ने मिलकर यह अध्ययन किया है। जिसमें कहा गया है कि चौथी लहर की गंभीरता नए कोरोना वेरिएंट और टीकाकरण की स्थिति पर निर्भर करेगी।

इस अध्ययन को प्रकाशित करने वाले लेखकों के अनुसार अध्ययन के आंकड़े दिखाते हैं कि भारत में चौथी लहर पहले कोरोना मामले मिलने के 936 दिन बाद आएगी। 30 जनवरी 2020 को कोरोना के पहले आंकड़े सामने आए थे। इसलिए कोरोना की चौथी लहर 22 जून 2022  से शुरू होकर 24 अक्टूबर 2022 तक चलेगी। यह 23 अगस्त के आसपास अपने पीक पर होगी। हालांकि शोधकर्ताओं ने यह भी कहा है कि इस बात की संभावना है कि कोरोना के नए वेरिएंट इस पूरे विश्लेषण को प्रभावित कर सकते हैं। इसके अलावा कहा यह भी जा रहा है कि कोरोना टीकाकरण भी काफी हद तक इसको प्रभावित कर सकता है। 

बता दें कि इन्हीं शोधकर्ताओं ने पहले यह संभावना जताई थी कि कोरोना की तीसरी लहर 3 फ़रवरी के आसपास उच्च स्तर पर होगी। शोधकर्ताओं ने बाकी देशों में ओमिक्रोन के प्रभाव का अध्ययन कर भारत में तीसरी लहर की संभावना जताई थी। गौरतलब है कि विश्व स्वास्थ्य संगठन भी पहले ही इस बात की संभावना जता चुका है कि ओमिक्रोन के बाद भी कोरोना के नए वैरिएंट आ सकते हैं और वह काफी ज्यादा संक्रामक हो सकता है। 

देश में पिछले 24 घंटों में कोरोना वायरस के 8,013 नए मामले दर्ज किए गए। कोरोना के मामलों में कल के मुकाबले 22 फीसदी की कमी दर्ज की गई। वहीं कोरोना के एक्टिव मामलों की संख्या देश में 1,02,601 हो गई है। देश में अभी पॉजिटिविटी रेट करीब 1.11% है।

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.