Russia-Ukraine Crisis: कभी पीएम मोदी ने दी थी UNSC को सलाह, युद्ध के बीच अब फिर से उठ रहे सवाल


द्वितीय विश्‍व युद्ध की समाप्ति के बाद 24 अक्‍टूबर, 1945 को अमेरिका, रूस सहित 50 से अधिक देश सेन फ्रांसिस्‍को में एकजुट हुए और उन्‍होंने एक दस्‍तावेज पर हस्‍ताक्षर किया। इसको स्‍थापित करने के लिए एक संगठन बनाने की बात कही गई। इसी के साथ संयुक्‍त राष्‍ट्र संघ का गठन हुआ। संयुक्‍त राष्‍ट्र के तमाम प्रयासों के बावजूद रूस ने यूक्रेन पर हमला बोल दिया। लेकिन कई बार यूएनएससी के रोल पर सवाल उठते रहे। कई बार इसकी भूमिका सवालों के घेरे में रही। यह पहली बार नहीं है, जब संयुक्‍त राष्‍ट्र दो देशों के बीच शांति स्‍थापित करने में नाकाम रहा है। इससे पहले भी कई युद्ध संयुक्त राष्‍ट्र की विफलता की वजह से हुए है।

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.