Sovereign Gold Bond scheme 2021-22: सस्ता सोना खरीदने का शानदार मौका! आरबीआई ने जारी की गोल्ड बॉन्ड स्कीम, जानिए इश्यू प्राइस समेत सभी डिटेल्स


नई द‍िल्‍ली:Sovereign Gold Bond scheme 2021-22: रूस- यूक्रेन जंग के बीच सर्राफा बाजार की उठा-पटक जारी है. अगर आप भी सस्ता सोना खरीदने की सोच रहे हैं तो आपके पास आज से पांच दिन तक मौका है. रिजर्व बैंक (RBI) की सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्कीम (Sovereign Gold Bond Scheme 2021-22) की दसवीं सीरीज (SGB series 10) आज से शुरू हो गई है. ये स्कीम पांच दिनों तक खुली रहेगी. सरकारी गोल्ड बॉन्ड योजना 2021-22 के लिए इश्यू प्राइस 5,109 रुपये प्रति ग्राम तय किया गया है. इसमें निवेश करने के इच्‍छुक न‍िवेशक आज 28 फरवरी से आवेदन कर सकते हैं.

खुल गई 10वीं किस्त

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) की तरफ से दी गई जानकारी के अनुसार, गोल्ड बॉन्ड योजना की साल 2021-22 की 10वीं किस्त सब्सक्रिप्शन के लिए 28 फरवरी यानी आज से खुल गई है. इस योजना में आप आज से 4 मार्च तक आवेदन कर सकते हैं. इसके ल‍िए ऑनलाइन आवेदन करने वालों को व‍िशेष छूट का भी प्रावधान है. आइए जानते हैं कैसे आप इस योजना का फायदा उठा सकते हैं. 

यह भी पढ़ें – Bank Holidays March 2022: मार्च में 13 दिन बंद रहेंगे बैंक! यहां चेक कर लें छुट्टियों की पूरी लिस्‍ट

आरबीआई ने दी विस्तृत जानकारी 

आरबीआई ने बताया कि गोल्ड बॉन्ड का आधार मूल्य 5,109 रुपये प्रति ग्राम होगा. ऑनलाइन एप्‍लीकेशन सब्‍म‍िट करने वालों के ल‍िए इसमें व‍िशेष छूट का ऑफर है. इस ऑफर के तहत आरबीआई के साथ परामर्श के बाद ऑनलाइन आवेदन करने वाले निवेशकों को 50 रुपये प्रति ग्राम की छूट म‍िलेगी. यानी ऑनलाइन आवेदन करने वाले निवेशकों के लिए यह रेट घटकर 5,059 रुपये प्रत‍ि ग्राम हो जाएगा. इसके ल‍िए न‍िवेशक को डिजिटल माध्यम से भुगतान करना होगा. 

कहां खरीद सकेंगे सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड?

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्मॉल फाइनेंस बैंक और पेमेंट बैंक को छोड़ कर सभी बैंक, स्टॉक होल्डिंग कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (SHCIL), निर्धारित डाकघरों मान्यता प्राप्त स्टॉक एक्सचेंजों (Stock Exchanges), नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ऑफ इंडिया लिमिटेड (NSE) और बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज लिमिटेड (BSE) से खरीदे जा सकते हैं. 

ये भी पढ़ें- LPG Subsidy: रसोई गैस सिलेंडर पर फिर शुरू हुई सब्सिडी! खाते में आने लगे हैं पैसे, ऐसे करें चेक 

इसमें कैसे करें ऑनलाइन इंवेस्ट

एनएसई (नेशनल स्टॉक एक्सचेंज) पर गोल्ड बॉन्ड की यूनिट खरीदने पर उसके मूल्य के बराबर का अमाउंट आपके डीमैट खाते से जुड़े अकाउंट से कट जाते हैं.

कितने साल बाद मैच्योरिटी 

Sovereign Gold Bond की मैच्योरिटी 8 साल की होती है. लेकिन पांच साल बाद अगले ब्याज भुगतान की तारीख पर आप इस स्कीम से निकल सकते हैं. सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड में निवेशक को कम से कम एक ग्राम सोने के लिए निवेश करना जरूरी है. जरूरत पड़ने पर निवेशक सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड पर लोन भी ले सकता है लेकिन गोल्ड बॉन्ड को गिरवी रखना होगा.

कौन खरीद सकता है सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड?

– कोई भी व्यक्ति और हिंदू अविभाजित परिवार ज्यादा से ज्यादा चार किलो तक की कीमत का गोल्ड बॉन्ड खरीद सकता है.
– ट्रस्ट और ऐसी ही दूसरी संस्थाओं के लिए यह सीमा 20 किलो सोने के बराबर कीमत तक रखी गई है.
– सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड संयुक्त ग्राहक के तौर पर भी खरीदा जा सकता है. इसे नाबालिग के नाम पर भी खरीद सकते हैं.
– नाबालिग के मामले में सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड को लेने के लिए उसके माता-पिता या अभिभावक को अप्लाई करना होगा.

बिजनेस से जुड़ी अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.