भारतीय है या नहीं? BJP नेता हैदर आजम की पत्नी का हुआ DNA टेस्ट, जानिए क्या निकला रिजल्ट


मुंबई: महाराष्ट्र बीजेपी(Maharashtra BJP) के माइनॉरिटी सेल के वाइस प्रेसिडेंट हैदर आजम की पत्नी एक भारतीय हैं बांग्लादेशी नहीं। इस बात की पुष्टि स्टेट फॉरेंसिक साइंस लैबोरेट्री में हुई डीएनए जांच में हुई है। आजम की पत्नी रेशमा खैराती खान के ऊपर यह आरोप था कि उन्होंने फर्जी दस्तावेजों की मदद से भारतीय पासपोर्ट हासिल किया है। रिपोर्ट में पाया गया है कि उनके माता-पिता भी भारतीय हैं और उनका ताल्लुक बिहार से है। रेशमा के दादा जी पुलिस विभाग में थे।

आईपीएस पर भी मामला दर्ज हुआ था
इस मामले के आरोपियों में से एक आईपीएस ऑफिसर देवेन भारती भी थे। उनके ऊपर यह आरोप था कि उन्होंने रेशमा खान के खिलाफ एफआईआर दर्ज नहीं की थी। जबकि मुंबई की स्पेशल ब्रांच ने इस बाबत उन्हें पत्र भी लिखा था। जिसमें इस बात का जिक्र था कि रेशमा ने फर्जी दस्तावेजों के जरिए इंडियन पासपोर्ट हासिल किया है।

रेशमा का परिवार बिहार से है
रेशमा के वकील रिजवान मर्चेंट के मुताबिक उनके मां-बाप बिहार के हैं जबकि उनके दादाजी पुलिस विभाग में कार्यरत थे। मर्चेंट ने कहा कि अब यह सिद्ध हो गया है कि रेशमा के माता-पिता भारतीय हैं। उनका नाम खैराती हसन और आसमा खातून है। बॉम्बे हाई कोर्ट ने इस मामले की सुनवाई अब सोमवार को करने की बात कही है। तब तक तब तक रेशमा खान को गिरफ्तारी से राहत दी गई है।

क्या है मामला
साल 2015 में पुलिस इंस्पेक्टर दीपक कुरूलकर ने यह आरोप लगाया था कि रेशमा खान एक बांग्लादेशी नागरिक हैं। इस बारे में उन्होंने एक प्राथमिक जांच भी की थी। उन्होंने इस बारे में पश्चिम बंगाल के रिकॉर्ड एंड कॉपिंग सेक्शन को एक पत्र भी लिखा था और यह मांग की थी कि रेशमा खान के बर्थ सर्टिफिकेट की जांच की जाए। जो 24 परगना, पश्चिम बंगाल से जारी किया गया था। उस जन्म प्रमाण पत्र में रेशमा की जन्म तिथि 1 जनवरी 1989 थी। कुरूलकर के मुताबिक जन्म प्रमाण पत्र में कुछ छेड़छाड़ की गई थी।

कुरूलकर के मुताबिक उन्हें यह बताया गया था कि इस तरह की कोई जानकारी वहां पर मौजूद नहीं है जिसके बाद उन्होंने मालवानी पुलिस स्टेशन के तत्कालीन पुलिस ने इंस्पेक्टर दीपक फटांगरे को इस बाबत एफआईआर दर्ज करने के लिए पत्र लिखा था। हालांकि बाद में उन्हें पता चला कि इस मामले में एफआईआर दर्ज न करने के आदेश वरिष्ठ अधिकारियों की तरफ से दिए गए हैं। क्योंकि आरोपी महिला के पति एक सीनियर पॉलिटिशियन हैं।

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.