Ukraine President Video: जब अमेरिका का ऑफर ठुकरा कर यूक्रेनी राष्ट्रपति जेलेंस्की ने कही दिल जीतने वाली बात


रूस और यूक्रेन के बीच जंग चल रही है। यूक्रेन ने अपने नागरिकों से हथियार उठाने के लिए कह दिया है। वहीं रूस की सेना अब राजधानी कीव पहुंच चुकी है। राजधानी से लगातार सैनिकों के मरने, मिसाइल हमलों और उपद्रव की खबरें आ रही हैं। इन हालात में यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोडिमिर जेलेंस्की ने कसम खाई है कि वो कीव में ही रहेंगे, अपने लोगों का साथ देंगे, लड़ेगे और देश की रक्षा करेंगे। उन्होंने देश छोड़कर भागने के अमेरिकी ऑफर को भी ठुकरा दिया है। जेलेंस्की ने शनिवार को एक वीडियो जारी कर ये बात फिर दोहराई है। इस वीडियो के टाइटल में उन्होंने लिखा है कि फेक बातों पर यकीन ना करें।

40 सेकेंड के इस वीडियो में वो राष्ट्रपति कार्यालय के सामने “चिमेरस हाउस” के सामने खड़े नजर आ रहे हैं। वीडियो में वो कहते हैं-

‘मैं यहां हूं। हम हथियार नहीं डाल रहे हैं। हम अपने देश की रक्षा करेंगे, क्योंकि हमारा हथियार सच्चाई है और हमारी सच्चाई ये है कि ये हमारी भूमि है, हमारा देश है, हमारे बच्चे हैं, और हम इस सब की रक्षा करेंगे। बस इतना ही। मैं आपको बस इतना ही बताना चाहता था। यूक्रेन की जय।”

आपको बता दें कि यूक्रेन के राष्ट्रपति को अमेरिकी सरकार ने राजधानी कीव से निकलने के लिए कहा था। लेकिन देश छोड़कर भागने के अमेरिकी ऑफर को उन्होंने ठुकरा दिया। एक वरिष्ठ अमेरिकी खुफिया अधिकारी के मुताबिक जेलेंस्की ने कहा कि

‘मुझे सवारी की जरूरत नहीं है। यहां युद्ध चल रहा है। मुझे गोला बारूद चाहिए, सवारी नहीं।’

इसक पहले जेलेंस्की ने कहा था कि दुश्मन ने उन्हें टारगेट नंबर-1 और उनके परिवार को टारगेट नंबर-2 के रूप में चिन्हित किया है। लेकिन वो भागेंगे नहीं। यूक्रेनी राष्ट्रपति समय-समय पर अपने नागरिकों को संबोधित करते हुए वीडियो जारी कर रहे हैं, ताकि उन्हें भरोसा दिला सकें कि वो अपना देश नहीं छोड़ रहे हैं।

जेलेंस्की ने रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन से संघर्ष को रोकने के लिए बातचीत करने का आह्वान भी किया है। इंटरफैक्स-यूक्रेन न्यूज एजेंसी ने शुक्रवार को जेलेंस्की के हवाले से कहा, ‘पूरे यूक्रेन में लड़ाई चल रही है। आइए बातचीत की मेज पर बैठें।’

जेलेंस्की के इस जज्बे भी सोशल मीडिया पर काफी तारीफ हो रही है। एक यूजर ने लिखा- मुश्किल पलों में ही नेतृत्व की पहचान होती है। लोग कुछ भी कहें, यूक्रेन के नेता के पास समर्पण करने या भागने के कई कारण थे। पर उन्होंने अपने लोगों के साथ खड़ा रहने का विकल्प चुना। इतिहास इन्हें नायक के रूप में देखेगा।

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.