पश्चिमी देशों ने उठाया रूस की कमर तोड़ने वाला कदम, रूसी बैंकों को Swift से किया बाहर, जानिए क्या पडे़गा असर


नई दिल्ली: रूस और यूक्रेन की लड़ाई (Russia Ukraine War Latest Update) के बीच अमेरिका (US) और यूरोपीय देश (European countries) लगातार रूस पर प्रतिबंध (Sanctions on Russia) लगा रहे हैं। इन देशों ने रूस पर कुछ अन्य बड़े प्रतिबंध लगाए जाने की घोषणा की है। इनमें रूस के प्रमुख बैंकों को भुगतान प्रणाली स्विफ्ट (Swift) से बाहर करना भी शामिल है। पश्चिमी देशों द्वारा रूस के बैंकों को स्विफ्ट पेमेंट सिस्टम से ब्लॉक करना एक बड़ा कदम है। इससे रूस को काफी आर्थिक नुकसान उठाना पड़ सकता है। हालांकि, इससे इन देशों के स्वयं के बैंकों और कंपनियों को भी काफी नुकसान होगा। रूस के यूक्रेन पर हमले के बाद ही पश्चिमी देशों की ओर से यह मांग उठ रही थी कि रूस को वैश्विक वित्तीय प्रणाली से अलग-थलग कर दिया जाए। इस कड़ी में सबसे बड़ा फैसला लेते हुए रुस को वैश्विक भुगतान प्रणाली स्विफ्ट से बाहर किया गया है।
Russia Ukraine War की तरह क्या भारत भी कर दे POK पर हमला? जानिए मौजूदा हालात से देश के बजट पर क्या पड़ेगा असर
बोरिस जॉनसन ने ट्वीट कर दी जानकारी
यूके (UK) के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन (Boris Johnson) ने ट्वीट कर रूस को स्विफ्ट पेमेंट सिस्टम से बाहर करने की जानकारी दी है। जॉनसन ने ट्वीट कर कहा, ‘हमने रूस को वैश्विक वित्तीय प्रणाली से बाहर निकालने के लिए अपने अंतरराष्ट्रीय भागीदारों के साथ आज रात निर्णायक कार्रवाई की है, जिसमें स्विफ्ट से रूसी बैंकों को बाहर निकालने का महत्वपूर्ण पहला कदम भी शामिल है। हम यह सुनिश्चित करने के लिए मिलकर काम करते रहेंगे कि पुतिन अपनी आक्रामकता की कीमत चुकाएं।’

क्या है स्विफ्ट
स्विफ्ट एक वैश्विक पेमेंट सिस्टम है। इसका पूरा नाम द सोसायटी फॉर वर्ल्ड वाइड इंटरबैंक फाइनैंशल टेलिकम्युनिकेशन (The Society for Worldwide Interbank Financial Telecommunication) है। यह एक तरह से फाइनेंशियल मेसेजिंग इन्फ्रास्ट्रक्चर है, जो दुनिया के बैंकों को जोड़ने का काम करता है। इस सिस्टम से 200 देशों और 11 हजार वित्तीय संस्थानों को वित्तीय लेन-देन से जुड़े निर्देश मिलते हैं। इस सिस्टम का संचालन बेल्जियम से किया जाता है। स्विफ्ट से जुड़े बैंक इस सिस्टम का संचालन करते हैं।

Russia, Ukraine जाकर मेडिकल की पढ़ाई क्यों करते हैं भारतीय छात्र?

क्यों महत्वपूर्ण है स्विफ्ट
किसी भी देश की अर्थव्यवस्था के लिए अंतरराष्ट्रीय लेन-देन बहुत जरूरी होता है। विदेशी व्यापार से देश की अर्थव्यवस्था मजबूत होती है। स्विफ्ट के जरिए अंतरराष्ट्रीय व्यापार, विदेशी निवेश और प्रवासियों की ओर से देश में भेजी जाने वाली राशि जैसे कार्यों का मैनेजमेंट होता है। किसी देश को स्विफ्ट जैसे पेमेंट सिस्टम से बाहर कर दिया जाता है, तो इससे उसे देश की अर्थव्यवस्था पर बड़ा असर पड़ेगा।

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.