Russia Ukraine War के बीच अमेरिकी टेक कंपनियों पर बढ़ रहा किसी एक का पक्ष लेने का दबाव


नई दिल्ली: अमेरिका की दिग्गज टेक कंपनियां (US Tech Companies) यूक्रेन पर रूस के आक्रमण (Russia’s invasion of Ukraine) के बाद किसी एक का पक्ष लेने के लिए बड़े दबाव में हैं। एक तरफ इन कंपनियों को रूस द्वारा की गई सैन्य कार्रवाई की कड़ी निंदा करने की सलाह मिल रही है, तो दूसरी तरफ रूस की ओर से भी दबाव बन रहा है। फेसबुक (Facebook), ट्विटर (Twitter) और यूट्यूब (YouTube) की वैश्विक पहुंच के चलते भू-राजनीतिक तनाव वाली परिस्थितियों में इन कंपनियों की भूमिका भी महत्वपूर्ण हो जाती है। कई लोग इनसे नाराज हो सकते हैं, तो कई इन पर सवाल उठा सकते हैं। ऐसा ही कुछ रूस और यूक्रेन की लड़ाई के बीच भी देखने को मिला रहा है।

रूस द्वारा यूक्रेन पर हमला करने पर यूक्रेन ने एप्पल (Apple) से लेकर गूगल (Google) और नेटफ्लिक्स (Netflix) तक कई कंपनियों से कहा था कि वे रूस से अपने संबंध खत्म कर लें। वहीं, फेसबुक ने कहा कि क्रेमलिन (Kremlin) की मांगों को मानने से इनकार करने पर उसकी सेवाओं पर अंकुश लगाया गया था।
Russia Ukraine Attack: यूक्रेन के मुंहतोड़ जवाब से टेंशन में आया रूस, चौतरफा हमले का आदेश, निशाने पर जेलेंस्की
ट्विटर ने की प्रतिबंध लगने की शिकायत
ट्विटर ने शनिवार को बताया कि उसका नेटवर्क रूस में कुछ लोगों के लिए प्रतिबंधित किया जा रहा था। बता दें कि ट्विटर को पिछले साल अपने यहां कुछ सामग्री के चलते जुर्माना और धीमी सेवा का सामना करना पड़ा था।

इन कंपनियों ने कई रूसी चैनल्स पर लगाए प्रतिबंध
बढ़ते दबाव के चलते कुछ कंपनियों ने कदम उठाने भी शुरू कर दिये हैं। उदाहरण के लिए, फेसबुक की मूल कंपनी मेटा और यूट्यूब दोनों ने रूस के सरकारी मीडिया की अपने प्लेटफॉर्म पर पैसा कमाने की क्षमता को प्रतिबंधित करने की घोषणा की है। कंपनी के एक बयान में कहा गया है, ‘हम कई चैनलों की YouTube पर कमाई करने की क्षमता को रोक रहे हैं जिनमें कई रूसी चैनल भी शामिल हैं।’

Russia-Ukraine War: ‘जल्दी कुछ कीजिए’ यूक्रेन-रूस युद्ध पर लोगों की मोदी सरकार से अपील

रूस भी लगा रहा कंपनियों पर प्रतिबंध
रूस की ओर से अमेरिकी टेक कंपनियों पर प्रतिबंध की शुरूआत हो चुकी है। शुरुआत फेसबुक से हुई है। रूस ने फेसबुक के इस्तेमाल पर रोक लगा दी है। रूस की ओर से कहा गया कि यूक्रेन की रूस पर सैन्य कार्रवाई के दावों को फेसबुक अपने प्लेटफॉर्म पर काफी बढ़ा-चढ़ा कर पेश कर रहा था। रूस ने ऐसी सभी पोस्ट्स को सेंसर कर दिया है। रूस की ओर से यह भी कहा गया था कि फेसबुक चार रूसी मीडिया चैनल्स से प्रतिबंध हटाने की मांगों को नहीं मान रहा है।

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.