Indian Embassy: यूक्रेन रेलवे कीव से चला रही ‘मुफ्त’ इमरजेंसी ट्रेनें, भारतीय दूतावास ने कहा- पश्चिमी इलाकों में जाएं


कीव : यूक्रेन युद्ध में कई भारतीय छात्र फंसे हुए हैं। कीव स्थित भारतीय दूतावास लगातार अपने नागरिकों के लिए एडवाइजरी जारी कर रहा है। रविवार को दूतावास ने भारतीय नागरिकों को तनावग्रस्त इलाकों से दूर रहने की सलाह दी है। यूक्रेन के अलग-अलग हिस्सों में फंसे भारतीय छात्रों को यूक्रेन-रोमानिया सीमा पर पहुंचने के लिए कहा जा रहा है। यहां से भारतीय विदेश मंत्रालय के अधिकारी लोगों को बुखारेस्ट एयरपोर्ट तक लेकर जा रहे हैं जहां से एयर इंडिया के विमान इन छात्रों को लेकर स्वदेश लौट रहे हैं।

दूतावास ने अपने ट्वीट में कहा, ‘यूक्रेन रेलवे मुफ्त में कीव से आपातकालीन ट्रेनों का संचालन कर रहा है। इनका शेड्यूल स्टेशनों पर देखा जा सकता है। भारतीय नागरिकों को सलाह दी जाती है कि सुरक्षा स्थिति और मौजूदा नियमों को देखते हुए तनावग्रस्त इलाकों से पश्चिमी क्षेत्रों की ओर चले जाएं।’ भारतीय दूतावास ने शनिवार को कहा था कि वह देश के पूर्वी हिस्से में स्थिति पर करीब से नजर रख रहा है।

अधिकारियों के संपर्क में भारतीय दूतावास
दूतावास ने भारतीय नागरिकों से संयम बरतने और सुरक्षित रहने की अपील की। ट्वीट में भारतीय दूतावास ने जानकारी दी कि वह भारतीय नागरिकों की सुरक्षा के लिए लगातार अधिकारियों के संपर्क में है। यूक्रेन में फंसे भारतीय छात्रों और अन्य नागरिकों की निकासी के लिए भारत सरकार लगातार अभियान चला रही है। दूतावास ने कहा, ‘भारतीयों के लिए हमारा यही संदेश है कि हम आपके साथ हैं।’
Russia Ukraine Talk: यूक्रेन जंग पर बातचीत के लिए पुतिन तैयार, बेलारूस पहुंचा प्रतिनिधिमंडल, जेलेंस्की ने रखी बड़ी शर्त
खारकीव में घुसी सेना, जेलेंस्की ने वार्ता के लिए रखी शर्त
रूसी सेना रविवार को यूक्रेन के दूसरे सबसे बड़े शहर खारकीव में घुस गई। सोशल मीडिया पर शेयर किए गए वीडियो में कई रूसी सैन्य वाहनों को यूक्रेन की सड़कों पर देखा गया। दावा किया जा रहा है कि आम यूक्रेनी नागरिकों ने कई गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया। इस बीच रूस का प्रतिनिधिमंडल वार्ता के लिए बेलारूस पहुंच गया है। लेकिन जेलेंस्की ने बेलारूस में बातचीत करने से इनकार कर दिया है। इसके बजाय उन्होंने अन्य जगहों का प्रस्ताव दिया है।

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.