बिहार पुलिस ने आरोपी को पकड़ा, नीतीश के एमएलए ने किया फोन तो छोड़ दिया; शिकायत पर बोले विधायक- मेरा नाम आ रहा है तो आने दीजिए


भागलपुर के गोपालपुर से जदयू के विधायक गोपाल मंडल विवादों से घिरे रहते हैं। पार्सल डिलीवरी करने गए लड़के से मारपीट के आरोप के बाद अब उनपर पेड़ काटने के आरोप लगे हैं। उनपर अधिकारियों ने 10 लाख रुपए के शीशम के पेड़ काटने के आरोप हैं। इस सिलसिले में भागलपुर आयुक्त को एक आवेदन भी दिया गया है।

‘दैनिक भास्कर’ की रिपोर्ट के मुताबिक अनिलेश साहू नाम के एक शख्स ने इसको लेकर शिकायत की है। साहू ने अपने भाई पर विधायक के साथ मिलकर जबरन जमीन हड़पने की बात कही है। उन्होंने गोपाल मंडल पर उनकी जमीन पर लगे 10 लाख रुपए के शीशम के पेड़ डरा धमका कर काटने के आरोप लगाए हैं। साहू का कहना है कि जब इस मामले में पुलिस ने कार्यवाही कर कुछ लोगों को हिरासत में लिया। तो विधायक ने फोन कर पुलिस पर दवाब बनाया और उन्हें छोड़ दिया गया।

इस मामले में विधायक का कहना है कि जिसकी जमीन है लकड़ी भी उसी की हुई। उन्होंने कहा कि अनिलेश का भाई कमलेश उनके साथ पढ़ा है और उसने उन्हें ग्राहक लाने को कहा था। गोपाल मंडल ने कहा कि मैंने सिर्फ ग्राहक लाकर दिया है। विधायक ने कहा “मैं खुद आरी लेकर पेड़ काटने बैठा हूं ऐसा किसी ने देखा है क्या?”

विधायक ने कहा “मामले में मेरा नाम लेने से क्या होगा? मेरा नाम आ रहा है तो आने दीजिए।” यह पहली बार नहीं है जब गोपालपुर विधायक ऐसे किसी विवाद में फंसे हो। उनपर एक पार्सल डिलीवरी करने गए लड़के ने मारपीट का आरोप लगाया था। उनपर उससे करीब पांच हजार रुपए छीनने और जबरन पार्सल लेने का आरोप लगा था।

पार्सल डिलीवरी बॉय ने पुलिस को बताया कि वह पिछले 8 महीने से एक बड़ी ई-कॉमर्स कंपनी के लिए डिलीवरी बॉय के रूप में काम कर रहा है। रविवार को वह बरारी हाउसिंग कॉलोनी के विधायक निवास स्थित एक पार्सल जिसमें घड़ी थी, देने गया था। पार्सल डिलीवरी देकर जाने के कुछ देर बाद उसे कॉल कर वापस बुलाया गया। एक आदमी ने कहा कि इसमें सामान कम है। उनलोगों ने उसे दिया गया 5218 रुपया भी छीन लिया और पार्सल (घड़ी) भी रख लिया।

डिलीवरी बॉय ने अपने आवेदन में यह भी बताया कि जबरदस्ती छिनतई करने के दौरान उसके साथ मारपीट भी की गई। यह सब विधायक के सामने हुआ लेकिन वो सारा नजारा देखते हुए भी कुछ नहीं बोले। बाद में उससे जबरन सादे कागज पर हस्ताक्षर भी करवा लिया।



सबसे ज्‍यादा पढ़ी गई




Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.