UAE Russia Relation: यूक्रेन में रूसी हमले पर चुप हैं खाड़ी देश, वॉशिंगटन और मॉस्को में से किसी एक को चुनना हुआ मुश्किल


रियाद/अबू धाबी/मॉस्को : यूक्रेन जंग में खाड़ी देशों के लिए किसी एक पक्ष को चुनना आसान होता, क्योंकि अमेरिका के साथ उनके संबंध लंबे समय से अच्छे रहे हैं। लेकिन मॉस्को के साथ संबंधों में बढ़ती घनिष्ठता के चलते अब यह फैसला इनके लिए मुश्किल हो रहा है। एक तरफ ज्यादातर देश रूसी हमले के खिलाफ मुखर हैं, तो वहीं खाड़ी सहयोग परिषद के अमीर देश इस पर चुप्पी साधे हुए हैं। इसमें सऊदी अरब और संयुक्त अरब अमीरात जैसे देश भी शामिल हैं।

मिडिल ईस्ट एक्सपर्ट्स कहते हैं कि उनकी चुप्पी जायज है जो ऊर्जा, सुरक्षा और फंडिंग पर टिकी हुई है। गल्फ एक्सपर्ट ऐनी गडेल ने कहा कि इन देशों के मॉस्को के साथ न सिर्फ आर्थिक बल्कि सुरक्षा संबंध भी मजबूत हो रहे हैं। शुक्रवार को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में यूएई ने चीन और भारत के साथ रूस के खिलाफ वोटिंग में शामिल होने से इनकार कर दिया। रूस संयुक्‍त राष्‍ट्र सुरक्षा परिषद का स्‍थायी सदस्‍य है और उसने इस प्रस्‍ताव को गिराने के लिए अपने ‘वीटो’ पावर का इस्‍तेमाल किया। रूस के वीटो करते ही यह प्रस्‍ताव पारित नहीं हो सका।
Putin Personal Life: कहां हैं पुतिन की ‘रहस्यमय’ बेटियां? पति, पिता, ससुर, दादा.. निजी जीवन में कई किरदार निभाते हैं रूसी राष्ट्रपति
मॉस्को में मिलेंगे रूस और यूएई के रक्षा मंत्री
रूस के विदेश मंत्रालय ने घोषणा की है कि यूएई और रूस के विदेश मंत्री सोमवार को मॉस्को में मुलाकात करेंगे, जहां दोनों के बीच रूस-यूएई संबंधों को विस्तार देने पर चर्चा की जाएगी। यूक्रेन पर हमला करने से कुछ घंटे पहले ‘यूएई ने रूस के साथ दोस्ती’ पर जोर दिया था। सऊदी अरब ने रूसी हमले पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है। इस कड़ी में यूएई, बहरीन और ओमान का नाम भी शामिल है। वहीं कुवैत और कतर ने मॉस्को की आलोचना करने के बजाए सिर्फ हिंसा की निंदा की है।

समझौते पर सहयोग के लिए तैयार है रूस
रूस के विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव ने अपने तुर्की समकक्ष मेवलुत कावुसोग्लू के साथ फोन पर बातचीत में कहा कि मास्को यूक्रेन में एक समझौते पर सभी रचनात्मक ताकतों के साथ बातचीत की तैयारी कर रहा है। समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, रूसी विदेश मंत्रालय ने शनिवार को एक बयान में कहा कि रूस ने शांति और स्थिरता के लिए यूक्रेन में त्वरित समाधान के लिए अपनी तत्परता पर जोर दिया। बयान के अनुसार, लावरोव ने कावुसोग्लू को यूक्रेन में रूस के वर्तमान सैन्य अभियान के बारे में सूचित किया और नागरिक आबादी की सुरक्षा करने के उद्देश्य की बात की है।

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.