15 साल का लंबा इंतजार! बॉक्सर मनोज कुमार को अर्जुन के बाद अब मिलेगा भीम अवॉर्ड


कुरुक्षेत्र. ओलंपिक खेलों में देश का प्रतिनिधित्व करने वाले बॉक्सर मनोज कुमार (Boxer Manoj Kumar) को अर्जुन अवॉर्ड के बाद अब हरियाणा का खेल विभाग भीम अवॉर्ड (Bheem Award) देगा. भीम अवॉर्ड प्रदेश का सबसे बड़ा खेल अवॉर्ड है. कुरुक्षेत्र के सेक्टर सात निवासी व मूल रूप से कैथल जिले के गांव राजोंद निवासी मनोज कुमार का नाम भारत के सफल मुक्केबाजों में आता है. मनोज कुमार पिछले 23 वर्षों से लगातार बॉक्सिंग कर रहे हैं. उन्होंने 1998 से कोच राजेश कुमार के मार्गदर्शन में खेलना शुरु किया था.

मनोज लंदन ओलंपिक 2012 और रियो ओलंपिक 2016 में हिस्सा ले चुके हैं और उनकी दोनों ओलंपिक रैंकिंग 9वीं रही थी और वे पांच बार विश्व चैंपियनशिप भी खेल चुके हैं. इनमें से एक बार कांस्य पदक भी जीत चुके हैं. वो राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर 50 से अधिक पदक जीत चुके हैं

23 वर्षों तक भारतीय मुक्केबाजी में खेलने वाले मनोज पहले भारतीय खिलाड़ी हैं. देश के लिए कॉमनवेल्थ खेलों में दूसरा पदक जीतने वाले भी अब तक के पहले भारतीय मुक्केबाज हैं. मनोज साल 2017 में देश के बेस्ट मुक्केबाज अवॉर्ड से सम्मानित हो चुके हैं. 2014 में उन्हें भारत सरकार ने अर्जुन अवॉर्ड से सम्मानित किया था. अब तक देश के लिए राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर 50 से अधिक पदक जीत चुके हैं और विश्व मुक्केबाजी रैंकिंग में छठी रैंक के बॉक्सर रह चुके हैं. मनोज ने इस अवॉर्ड के लिए चयन करने पर खेल मंत्री संदीप सिंह और खेल निदेशक पंकज नैन का भी आभार जताया.

बता दें कि मनोज कुमार को 2007 में भीम अवार्ड मिलना था. अब 15 साल के लंब इंतजार के बाद उन्हें ये अवार्ड मिलेगा. मनोज कुमार ने कहा कि वो अपने  हक के लिए हमेशा आवाज उठाता रहा हूं. इससे पहले अर्जुन अवार्ड के लिए मामला कोर्ट में चला था. फिर उसके बाद सरकार ने  अर्जुन अवार्ड दिया था. वो अपनी फिटनेस के साथ प्रोफेसनल बॉक्सिंग  और एमेच्योर 2024 के लिए कर तैयारी कर रहे है.

आपके शहर से (चंडीगढ़)

Tags: Boxing, Haryana news, Sports news

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.