पुलिस की वर्दी पहनकर लोगों को ठगने वाला गिरोह सक्रिय, पता भी नहीं चलता और लुट जाते हैं पैसे-गहने! – mumbai police is worried as the gang that cheated people by wearing police uniform is active


मुंबई: पुलिस के लिए फर्जी पुलिसकर्मियों की गिरफ्तारी और इनकी तरफ से की जाने वाली आपराधिक घटनाओं को रोकना सिरदर्द बन गया है। महानगर में पुलिस की वर्दी पहनकर लोगों को ठगने वाला गिरोह सक्रिय है। सूत्रों के अनुसार, पिछले कुछ समय से मुंबई के विभिन्न हिस्सों में फर्जी पुलिसकर्मी बनकर लोगों से ठगी करने की घटनाएं बढ़ गई हैं। इससे न सिर्फ जनता बल्कि प्रशासन भी परेशान है।

एक सूत्र के मुताबिक, पिछले दो महीने में समता नगर, माहिम, कुरार और मालाड और वर्सोवा में फर्जी पुलिसकर्मियों द्वारा बुजुर्गों और महिलाओं को ठगने और उनके साथ धोखाधड़ी करने के मामले सामने आए हैं। 20 फरवरी को समता नगर थाने में ऐसा ही एक मामला सामने आया, जब दो लोगों ने खुद को पुलिसकर्मी बताकर एक बुजुर्ग से सोने की जूलरी ठग ली। समता नगर पुलिस के मुताबिक, पीड़ित ठाकुर कॉम्प्लेक्स में रहते हैं। 20 फरवरी को वह घरेलू सामान की खरीदारी कर जब घर लौट रहे थे तो रास्ते में दो अज्ञात लोग मिले।

उन्होंने खुद को पुलिसवाला बताया और चेन स्नैचरों से बचने के लिए सोने की चेन और अंगूठी निकालकर बैग में रख लेने की सलाह दी। बुजुर्ग ने सामने वाले को असली पुलिस समझ कर चेन और अंगूठी बैग में रख ली। उनके सामने वे दोनों कथित पुलिसकर्मी भी एक ऑटोरिक्शा में बैठकर निकल गए। घर पहुंचने पर बुजुर्ग ने जब बैग खोला तो उनके बैग से कपड़े में लपेटी हुई जूलरी गायब थी। इसकी शिकायत बुजुर्ग ने समता नगर पुलिस में की।

पुलिस ने आईपीसी की धारा 420, 170 और 34 के तहत केस दर्ज किया है। पुलिस अधिकारी राजेन्द्र निकुंब के अनुसार, हाथ की सफाई से लोगों को बेवकूफ बनाकर आरोपी वारदात को अंजाम देते हैं। मालाड निवासी गोपाल सिंह (पीड़ित) बताते हैं कि मुंबई पुलिस को चाहिए कि असली और नकली पुलिस के बीच फर्क समझाते हुए लोगों के बीच जागरूकता अभियान चलाए, ताकि लोग सही पुलिस पर विश्वास कर सकें और गलत पुलिसकर्मियों के बारे में नजदीकी पुलिस स्टेशनों को सूचना दे सकें।

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.