शाह का गया फ़ोन, दिल्ली पहुंचे पारस, मंत्री बनने की अटकल, चिराग का किसी ने नहीं लिया नाम


केंद्रीय कैबिनेट विस्तार की खबरों के बीच लोजपा नेता पशुपति पारस गृहमंत्री अमित शाह के फोन के बाद दिल्ली आ गए हैं। संभावना जतायी जा रही है कि पारस को मंत्री बनाया जा सकता है। इधर मंत्री बनने को लेकर अबतक चिराग पासवान से कोई संपर्क नहीं साधा गया है। मीडिया खबरों के अनुसार बिहार से सुशील मोदी, संजय जयसवाल, आरसीपी सिंह, ललन सिंह, रामनाथ ठाकुर और चंदेश्वर चंद्रवंशी का नाम सबसे आगे चल रहा है। उम्मीद की जा रही है कि 7-8 जुलाई को कैबिनेट का विस्तार होगा।

बताते चलें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने केंद्रीय मंत्रिपरिषद में फेरबदल को लेकर चल रही चर्चा के बीच गृह मंत्री अमित शाह और भाजपा के संगठन महामंत्री बीएल संतोष के साथ बैठक की । इस बैठक को मंत्रिपरिषद विस्तार से जुड़े ब्यौरे को अंतिम रूप देने से जोड़कर देखा जा रहा है। सूत्रों का कहना है कि जल्द ही मंत्रिपरिषद में फेरबदल होने की ‘प्रबल संभावना’ के बीच शाह और संतोष ने रविवार को प्रधानमंत्री के निवास पर उनके साथ कई घंटों तक चर्चा की।

कुछ सूत्रों ने बताया कि शपथ ग्रहण बुधवार तक हो सकता है। बहरहाल, इस बारे में कोई आधिकारिक बयान नहीं आया है। अगर प्रधानमंत्री फेरबदल करते हैं तो मई, 2019 में प्रधानमंत्री के तौर पर दूसरी पारी शुरू करने के बाद मंत्रिपरिषद का यह पहला विस्तार होगा।

असम के पूर्व मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल, ज्योतिरादित्य सिंधिया और सुशील मोदी उन संभावित लोगों में शामिल माने जा रहे हैं जिन्होंने मोदी मंत्रिपरिषद में जगह मिल सकती है।सूत्रों के अनुसार, पश्चिम बंगाल का प्रतिनिधित्व भी इस विस्तार में बढ़ सकता है। माना जा रहा है कि भाजपा की सहयोगियों जदयू और अपना दल (एस) को भी प्रतिनिधित्व मिल सकता है।

आरपीआई नेता राम दास आठवले इकलौते ऐसे गैर भाजपाई नेता हैं जो नरेंद्र मोदी मंत्रिपरिषद में शामिल हैं। बताते चलें कि मौजूदा मंत्रिपरिषद में कुल 53 मंत्री हैं और नियमानुसार अधिकतम मंत्रियों की संख्या 81 हो सकती है।



सबसे ज्‍यादा पढ़ी गई




Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.