Russia Ukraine War: राजधानी कीव पर रूस के हमले हुए तेज, यूक्रेन के लिए अगले 24 घंटे बेहद अहम


Russia Ukraine War: यूक्रेन की राजधानी कीव को कब्जाने के लिए रूस और यूक्रेन (Russia Ukraine War) के सैनिकों के बीच संघर्ष तेज हो गया है. रूस के सैनिक भारी हथियारों के जरिए कीव पर ताबड़तोड़ हमले कर रहे हैं. वहीं यूक्रेन के सैनिक रूस को रोकने की कोशिश कर रहे हैं. 

इस बीच, यूक्रेन के नेता ने दावा किया कि देश की सेनाओं ने रूसी हमलों को रोक दिया है. साथ ही संघर्ष जारी रखने की शपथ लेते हुए दुनिया के देशों से और अधिक मदद देने की अपील की. 

देश छोड़ देने का प्रस्ताव जेलेंस्की ने ठुकराया

यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमिर जेलेंस्की ने भी वहां से निकल जाने के अमेरिकी प्रस्ताव को मानने से इनकार कर दिया और जोर देकर कहा कि वह राजधानी में ही रुकेंगे. एक वीडियो संदेश में जेलेंस्की ने रूस पर यूक्रेन के नागरिकों को निशाने बनाने का आरोप लगाया. उन्होंने दावा करते हुए कहा, ‘यहां जंग जारी है और हम जीतेंगे.’

राष्ट्रपति जेलेंस्की ने शनिवार को फिर से आश्वासन दिया कि देश की सेना रूसी आक्रमण (Russia Ukraine War) का सामना करेगी. राजधानी कीव में एक सड़क पर रिकॉर्ड वीडियो में, उन्होंने कहा कि उन्होंने शहर नहीं छोड़ा है और यह दावा झूठ है कि यूक्रेनी सेना हथियार डाल देगी.

उन्होंने कहा, ‘हम हथियार नहीं डालने जा रहे हैं. हम अपने देश की रक्षा करेंगे. सच्चाई यह है कि यह हमारी जमीन है, हमारा देश है, हमारे बच्चे हैं. और हम उन सबका बचाव करेंगे.’

जंग से यूक्रेन में सैकड़ों लोग हुए घायल

कीव में शनिवार को शांति रही. हालांकि छिटपुट गोलियों की आवाज सुनी जा सकती थी. दो दिनों के घमासान के बाद हुई झड़पों में सैकड़ों लोग हताहत हुए हैं और पुलों, स्कूलों और अपार्टमेंट की इमारतों को भारी नुकसान पहुंचा है. 

अमेरिकी अधिकारियों का मानना​​ ​​है कि रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन यूक्रेन की सरकार को उखाड़ फेंकने और वहां पर अपना शासन शुरू करने के लिए दृढ़ हैं. वहीं रूस का दावा है कि यूक्रेन पर उसके हमले का उद्देश्य केवल सैन्य ठिकानों को निशाना बनाना है. 

कीव के मेयर विटाली क्लिचस्को ने कहा कि राजधानी में एक ऊंची इमारत पर मिसाइल से हमला किया गया, जिससे इमारत क्षतिग्रस्त हो गई. इस घटना में छह नागरिक घायल हो गए. मेयर क्लिचस्को ने शहर में रूसी सैनिकों के हमले के चलते कर्फ्यू की अवधि को बढ़ा दिया है. उन्होंने कहा कि शाम 5 बजे से सुबह 8 बजे तक कीव में सख्त कर्फ्यू लागू रहेगा. उन्होंने कहा, ‘कर्फ्यू के दौरान सड़क पर मौजूद सभी नागरिकों को दुश्मन के ऑपरेशनल ग्रुप का सदस्य माना जाएगा.’

सवा लाख लोगों ने यूक्रेन से किया पलायन

दोनों देशों के बीच इस जंग (Russia Ukraine War) की वजह से यूक्रेन के हजारों लोग अपने घरों को छोड़कर पड़ोस के देशों में चले गए हैं. संयुक्त राष्ट्र के अधिकारियों ने कहा कि यूक्रेन के 1 लाख 20 हजार 000 से अधिक लोग पोलैंड, मोल्दोवा और अन्य पड़ोसी देश चले गए हैं.

यूक्रेन ने कहा कहा कि एक रूसी मिसाइल को शनिवार तड़के उस समय नष्ट कर दिया गया, जब वह कीव को पानी उपलब्ध कराने वाले विशाल डैम की ओर बढ़ रही थी. इसके साथ ही शनिवार तड़के शहर के पास एक रूसी सैन्य काफिले को नष्ट कर दिया गया. यूक्रेन की 101वीं ब्रिगेड ने सूचना मिलने के बाद नष्ट हुए रूस के 2 हल्के वाहनों, दो ट्रकों और एक टैंक का निरीक्षण किया. 

कीव के अलावा, रूसी हमलों का निशाना (Russia Ukraine War) यूक्रेन के समुद्र तट भी दिखाई दिए. रूस की सेनाएं ओडेसा के काला सागर बंदरगाह से लेकर पश्चिम में रोमानिया की सीमा के पास, पूर्व में मारियुपोल के आजोव सागर बंदरगाह पर लगातार हमले कर रही हैं. 

विस्फोटों की आवाज से दहल रहे कीव का भविष्य अधर में है. इस बीच यूक्रेन के राष्ट्रपति जेलेंस्की ने संघर्षविराम की अपील की है. अपने हताशा भरे बयान में उन्होंने कहा कि देश के कई शहरों पर हमले किए जा रहे हैं.

लोगों को खिड़कियों से दूर रहने की अपील

कीव के अधिकारियों ने लोगों से अपील की है कि वे कहीं पनाह ले लें. खिड़कियों से दूर रहें और उड़ते हुए मलबों व गोलियों से बचने के लिए सावधानी बरतें.

रूसी सेना ने शुक्रवार को दक्षिणी यूक्रेन के मेलितोपोल शहर पर अपना कब्जा होने का दावा करते हुए आगे बढ़ना जारी रखा. फिर भी, युद्ध (Russia Ukraine War) में यह स्पष्ट नहीं था कि यूक्रेन का कितना हिस्सा अभी यूक्रेनी नियंत्रण में है और कितने हिस्से पर रूसी सेना ने कब्जा कर लिया.

यूक्रेन की सेना ने कीव से 25 मील (40 किमी) दक्षिण में एक शहर, वासिलकिव के पास एक रूसी परिवहन विमान को मार गिराने की सूचना दी, जिसकी पुष्टि एक वरिष्ठ अमेरिकी खुफिया अधिकारी ने की. रूसी सेना ने हालांकि इस संबंध में कोई टिप्पणी नहीं की.

यूक्रेन के स्वास्थ्य मंत्रालय ने शनिवार को बताया कि बृहस्पतिवार तड़के शुरू हुए रूसी हमले के बाद से अब तक तीन बच्चों सहित 198 लोग मारे गए हैं और 1,000 से अधिक लोग घायल हुए हैं. यूक्रेन के अधिकारियों का दावा है कि अब तक की लड़ाई (Russia Ukraine War) में सैकड़ों रूसी मारे गए हैं. रूसी अधिकारियों ने हताहत हुए लोगों का कोई आंकड़ा नहीं जारी किया है.

पश्चिमी देशों की संपत्ति जब्त करने की चेतावनी

रूस की सुरक्षा परिषद के उप प्रमुख दमित्री मेदवेदेव ने चेतावनी दी कि मास्को अंतिम परमाणु हथियार समझौते से बाहर निकलने, पश्चिमी देशों की संपत्तियों को जब्त करने जैसी कार्रवाई कर सकता है.

इस बीच, उत्तरी अटलांटिक संधि संगठन (नाटो) ने शुक्रवार को पहली बार सदस्य देशों की रक्षा में मदद के लिए नाटो रिस्पांस फोर्स के कुछ हिस्सों को भेजने का फैसला किया. नाटो ने यह नहीं बताया कि कितने सैनिकों को तैनात किया जाएगा, लेकिन उसने कहा कि इसमें भूमि, समुद्र और वायु शक्ति शामिल होगी.

ये भी पढ़ें- Baba Vanga Prediction: पुतिन करेंगे पूरी दुनिया पर राज, बाबा वेंगा ने रूस को लेकर की थी ये भविष्यवाणी!

आखिर कब तक चलेगा पुतिन का अभियान?

पुतिन के प्रवक्ता दिमित्री पेसकोव ने कहा कि रूस जेलेंस्की को राष्ट्रपति के रूप में मान्यता देता है, लेकिन यह नहीं बताएगा कि रूसी सैन्य अभियान कितने समय तक चल सकता है. जेलेंस्की ने शुक्रवार को पुतिन की एक प्रमुख मांग पर बातचीत करने की पेशकश की कि यूक्रेन खुद को तटस्थ घोषित करे और नाटो में शामिल होने की अपनी महत्वाकांक्षा को छोड़ दे.

LIVE TV

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.