Indian Students in Ukraine: अलार्म बजते ही एक्शन में आ जाते हैं यूक्रेन में फंसे भारतीय छात्र, वहां से लौटे युवक ने बताया कारण


रीवाः रूस के साथ युद्ध शुरू होने के चलते यूक्रेन में करीब 20 हजार भारतीय फंस गए हैं। इनमें से अधिकांश छात्र हैं जो पढ़ाई के लिए वहां गए हैं। ये सभी छात्र अपने हॉस्टल या बंकरों में रखे गए हैं। शनिवार को यूक्रेन से रीवा लौटे प्रज्जवल तिवारी ने वहां की हालत की जानकारी दी।

प्रज्जवल ने बताया कि जो छात्र अभी भी यूक्रेन में हैं, वे चौबीसों घंटे अलार्म का ध्यान रखते हैं। छात्रों से कहा गया है कि यदि अलार्म थोड़ी देर के लिए बजे तो इसका मतलब है कि उन्हें तत्काल अपने कमरे से निकलकर बंकर में जाना है। यदि अलार्म पांच से दस मिनट तक बजता रहे तो यह इशारा होता है कि छात्र अपने कमरों में लौट सकते हैं।

प्रज्जवल दोपहर बाद ट्रेन से अपने गांव डभौरा पहुंचे। उनकी सुरक्षित वापसी से खुश परिवार के लोगों ने स्टेशन पर मिठाई खिलाकर स्वागत किया। मीडिया से बात करते हुए प्रज्ज्वल ने बताया कि वहां के हालात बेहद खराब हैं। सकुशल स्वदेश वापसी के लिए उन्होंने सभी का धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा कि वे जब तक यूक्रेन में थे, तब हालात ठीक नजर आ रहे थे। उनके यूक्रेन से निकलने के कुछ घंटे बाद ही हमले शुरू हो गए। अब हालत बेहद गंभीर है।

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.