Russian Troops in Belarus: लुकाशेंको ने देशद्रोह किया…रूस का समर्थन कर घिरे बेलारूसी ‘तानाशाह’, तख्तापलट की आशंका


मिन्स्क: बेलारूस के राष्ट्रपति एलेक्जेंडर लुकाशेंको (Alexander Lukashenko) रूस (Russia Ukraine War Belarus) का समर्थन कर फंसते दिखाई दे रहे हैं। विपक्षी नेताओं ने लुकाशेंको पर रूस-यूक्रेन युद्ध (Russia Ukraine War Updates) में बेलारूस को शामिल करने का आरोप लगाया है। विपक्ष का आरोप है कि उन्होंने देशद्रोह किया है, ऐसे में राष्ट्रपति पद पर बने रहने का कोई अधिकार नहीं है। विपक्षी नेता और राष्ट्रपति चुनाव में लुकाशेंको को टक्कर देने वाली स्वियातलाना सिखानौस्काया ने खुद को बेलारूस का राष्ट्रीय नेता भी घोषित कर दिया है। लुकाशेंको को अगस्त 2020 में हुए चुनाव में 80 फीसदी से ज्यादा मत मिले थे। हालांकि, विपक्ष और पश्चिमी देशों ने चुनाव में धांधली का आरोप लगाया था। जिसके बाद लगभग तीन महीने तक पूरे बेलारूस में लुकाशेंको के खिलाफ जबरदस्त विरोध प्रदर्शन भी हुए थे।

विपक्षी नेता ने खुद को ङोषित किया ‘राष्ट्रीय नेता’
विपक्षी नेता स्वियातलाना सिखानौस्काया ने वीडियो जारी कर कहा कि लुकाशेंका ने देशद्रोह किया है। उन्होंने हमारे देश को यूक्रेन के आक्रमण में भागीदार बनाया। इसलिए मैंने अपने देश की संप्रभुता और स्वतंत्रता की रक्षा करने, क्षेत्र में सुरक्षा वार्ता और संकट प्रबंधन में इसका प्रतिनिधित्व करने के लिए खुद को बेलारूस का राष्ट्रीय नेता घोषित किया है। हालांकि अभी तक साफ नहीं हो सका है कि स्वियातलाना सिखानौस्काया बेलारूस में हैं या किसी बाहरी देश में। राष्ट्रपति चुनाव के नतीजे आने के बाद से ही सिखानौस्काया ने कार्रवाई की डर से बेलारूस को छोड़ दिया था। तब उनके पड़ोसी देश लिथुआनिया में शरण लेने की बात कही गई थी।

पुतिन के जबरदस्त समर्थक हैं एलेक्जेंडर लुकाशेंको
एलेक्जेंडर लुकाशेंको को यूरोप का आखिरी तानाशाह भी कहा जाता है। राष्ट्रपति लुकाशेंको 1994 से लगातार बेलारूस की सत्ता पर काबिज हैं। लुकाशेंको रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के जबरदस्त समर्थक हैं। वे अपने देश की विदेश नीति पूरी तरह से रूस को मद्देनजर रखते हुए चलाते हैं। रूस ने कुछ दिनों पहले यूक्रेन के डोनबास क्षेत्र में डोनेट्स्क और लुगांस्क को पीपुल्स रिपब्लिक का दर्जा दिया था। जिसके बाद बेलारूस ऐसा इकलौता देश था, जिसने रूस के इस फैसले का समर्थन करते हुए इन दोनों क्षेत्रों को स्वतंत्र देश की मान्यता दी थी। रूसी सेना के 30000 सैनिकों ने बेलारूस के जरिए ही यूक्रेन की राजधानी कीव पर हमला किया है।

Russia Ukraine War Video: युद्ध में रूसी सेना का निकला ‘तेल’, टैंक को देख यूक्रेनी बोला- घर जाने के लिए धक्का दे दूं?
लुकाशेंको की खुलकर मदद करता है रूस
रूस और बेलारूस संबंध की तुलना अमेरिका और ब्रिटेन के संबंधों से की जाती है। बेलारूस में जब राष्ट्रपति चुनाव के बाद लुकाशेंको के खिलाफ जमकर प्रदर्शन हो रहे थे, तब रूस ने ही मोर्चा संभाला था। हिंसक विरोध प्रदर्शनों को कुचलने के लिए रूस ने बेलारूस में अपनी सेना को तैनात किया था। लुकाशेंको ने कुछ महीने पहले ही रूसी राष्ट्रपति से परमाणु बम की डिमांड की थी।

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.