पार्टी को एकजुट करने के संदेश के साथ अजय सिंह को मनाने की कोशिश – News18 हिंदी


रीवा. कांग्रेस के खाटी नेता रहे पूर्व सीएम अर्जुन सिंह (Arjun Singh) और श्रीनिवास तिवारी के इलाके विंध्य में कमजोर पड़ रही पार्टी में नयी जान फूंकने की कवायाद पीसीसी चीफ कमलनाथ (Kamalnath) कर रहे हैं. अर्जुन सिंह के बेटे अजय सिंह की नाराजगी और बीजेपी में जाने की अटकलें लगातार चल रही हैं. कमलनाथ का रीवा दौरा और खुले मंच से अजय सिंह की तारीफ नये संकेत दे रहा है.

मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष कमलनाथ रीवा गए तो अल्प प्रवास पर थे. लेकिन संदेश बड़ा दे गए. यहां उन्होंने मंडलम सेक्टर के कार्यकर्ताओं की समीक्षा बैठक में पार्टी को एकजुट करने की कवायद का संदेश सख्ती और साफ शब्दों में दिया. महंगाई और बेरोजगारी के मुद्दे पर जन आक्रोश आंदोलन में उन्होंने अपने नेताओं का बखान भी किया.

अर्जुन सिंह को अपना गुरु बताया
अपने संबोधन में कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने पूर्व मुख्यमंत्री अर्जुन सिंह को अपना राजनीतिक गुरु बताते हुए उनके बेटे अजय सिंह की तारीफ के कसीदे पढ़े. अजय सिंह राहुल को पारिवारिक सदस्य बताया. कांग्रेस पार्टी की गुटबाजी कभी किसी से छुपी नहीं रही. प्रदेश के दिग्गज नेताओं का आपसी टकराव लगातार दिख रहा है. कमलनाथ ने पार्टी में सामंजस्य बैठाने की कवायद शुरू कर दी है. रीवा मंडलम और सेक्टर कार्यकर्ताओं की बैठक लेते हुए उन्हें आपसी सामंजस्य बनाए रखने की हिदायत दी. इसके साथ ही पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने रीवा के मनगवां विधानसभा में आयोजित जन आक्रोश आंदोलन को संबोधित किया. इस सभा की खास बात ये रही कि कमलनाथ ने अजय सिंह की तारीफ की. उन्होंने कहा अजय सिंह उनके पारिवारिक सदस्य हैं. जिनकी शादी भी कमलनाथ के घर से हुई थी. कमलनाथ ने अर्जुन सिंह को अपना राजनीतिक गुरु बताया और कहा उनके मार्गदर्शन में पहली बार केंद्र सरकार की कैबिनेट में वह शामिल हुए थे.

ये भी पढ़ें- यात्रियों के लिए विशेष सूचना : MP से गुजरने और चलने वाली ये ट्रेनें रहेंगी रद्द, टाइम और दिन नोट कीजिए

अजय सिंह की तारीफ
कुछ समय से अजय सिंह के कमलनाथ से नाराज चलने और बीजेपी में जाने की चर्चाएं चल रही हैं. उसके बाद कमलनाथ का उनके इलाके का दौरा और खुले मंच से अजय सिंह की तारीफ नये संकेत दे रही है. सिंधिया के जाने के बाद सत्ता खो चुके कमलनाथ जानते हैं कि अब कोई और बड़ा डैमेज सहने की स्थिति में पार्टी नहीं है. विधानसभा चुनाव 2023 जीतना है तो कांग्रेस को एकजुट होना ही पड़ेगा.

आपके शहर से (रीवा)

मध्य प्रदेश

मध्य प्रदेश

Tags: Kamal nath, Madhya Pradesh Congress, Madhya pradesh latest news, Rewa News

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.