Beijing Winter Olympics : बीजिंग विंटर ओलंपिक में 91 देश लेंगे हिस्सा, भारत से केवल 1 एथलीट… जानें- इन खेलों के बारे में सब-कुछ


नई दिल्ली. चीन की राजधानी बीजिंग में शीतकालीन ओलंपिक खेलों (Winter Olympic Games-2022) का आयोजन होना है जिसका आगाज 4 फरवरी से होगा. ओपनिंग सेरेमनी शुक्रवार को बीजिंग के नेशनल स्टेडियम में आयोजित होगी. इस स्टेडियम को ‘बर्ड्स नेस्ट’ भी कहा जाता है. कोविड-19 के कारण कई तरह की चुनौतियों का सामना करना पड़ेगा. चीन के लिए भी सबसे बड़ी चुनौती खिलाड़ियों की सुरक्षा और स्वास्थ्य है. विंटर ओलंपिक में हिस्सा लेने वाले सभी प्रतिभागियों के रोजाना टेस्ट हो रहे हैं और किसी भी खिलाड़ी को होटल और आयोजन स्थलों से बाहर जाने की स्वीकृति नहीं है.

91 देश ले रहे हैं हिस्सा
विंटर ओलंपिक खेलों में 91 देशों के खिलाड़ी हिस्सा ले रहे हैं. कुल 2871 एथलीट में से 1581 पुरुष हैं जबकि 1290 महिला खिलाड़ी अपने-अपने देशों का प्रतिनिधित्व करेंगी. इस बार 7 खेलों में रिकॉर्ड 109 इवेंट आयोजित किए जाएंगे. बीजिंग नेशनल स्टेडियम में साल 2008 के ओलंपिक खेलों का उद्घाटन समारोह भी आयोजित किया गया था. ठंड के मौसम और कोविड महामारी को ध्यान में रखते हुए समारोह के लगभग 100 मिनट तक ही चलने की उम्मीद है.

इसे भी देखें, बीजिंग शीतकालीन ओलंपिक में खिलाड़ियों के साथ उनका कचरा भी रहेगा बायो बबल में

भारत से केवल 1 खिलाड़ी
ओपनिंग सेरेमनी के शो में 3,000 कलाकार हिस्सा लेंगे, जिनमें से 95 प्रतिशत युवा होंगे. इस साल विंटर ओलंपिक इतिहास में पहली बार हर देश में दो ध्वजवाहक होंगे – एक पुरुष और एक महिला. भारत के लिए सिर्फ अल्पाइन स्कीयर मोहम्मद आरिफ खान तिरंगे को थामकर स्टेडियम में चलने का गौरव हासिल करेंगे, जो बीजिंग ओलंपिक-2022 में देश के एकमात्र प्रतिनिधि हैं. मोहम्मद आरिफ खान स्लैलम और जाइंट स्लैलम स्पर्धाओं में हिस्सा लेंगे. भारत बीजिंग में राष्ट्रों की परेड में 23वां देश होगा.

बीजिंग रचेगा इतिहास
जुलाई-2015 में कुआलालंपुर में अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति के 128वें सत्र में बीजिंग को मेजबान शहर के रूप में चुना गया था. 2022 शीतकालीन ओलंपिक खेल चीन में पहले, ओवरऑल दूसरे ओलंपिक और पूर्वी एशिया में लगातार तीसरे ओलंपिक खेल होंगे. इससे पहले दक्षिण कोरिया के प्योंगचांग में 2018 विंटर ओलंपिक, पिछले साल टोक्यो में 2020 समर ओलंपिक भी आयोजित किए गए थे. इसी के साथ बीजिंग ग्रीष्मकालीन और शीतकालीन, दोनों ही ओलंपिक खेलों की मेजबानी करने वाला पहला शहर भी बनेगा. बीजिंग में 2008 के ग्रीष्मकालीन ओलंपिक खेलों का भी आयोजन हुआ था.

करीब 3 महीने से छिड़की जा रही नकली बर्फ
खास बात है कि विंटर ओलंपिक खेलों में जितनी भी बर्फ दिखाई देगी, सब नकली यानी कृत्रिम होगी. बीजिंग पहला शहर होगा जो विंटर ओलंपिक के लिए पूरी तरह कृत्रिम बर्फ का इस्तेमाल करेगा. जलवायु परिवर्तन के कारण यह फैसला लिया गया है कि बीजिंग ओलंपिक खेलों के इवेंट कृत्रिम बर्फ पर ही आयोजित किए जाएंगे. बीजिंग शीतकालीन खेलों के लिए टेक्नोएल्पिन नाम की इटली की एक कंपनी से बर्फ बनाने वाली मशीनों को लाया गया है. नवंबर 2021 से ये मशीनें कृत्रिम बर्फ को निकाल रही हैं. रिपोर्टों से पता चलता है कि अनुमानित 49 मिलियन गैलन पानी, जो 74 ओलंपिक आकार के पूलों को भर देगी, नकली बर्फ बनाने के लिए जरूरी हैं. इसके अलावा 130 पंखे से चलने वाले स्नो जनरेटर और 300 स्नो-गन का इस्तेमाल किया गया है.

Tags: China, Olympic Games, Sports news, Winter olympics, Winter olympics 2022

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.