Digital Rupee का कल से इन बैंकों में होगा पायलट परीक्षण, जान‍िए कैसे कर सकते हैं यूज


Reserve Bank of India Digital Rupee: वह द‍िन दूर नहीं जब आप अपने दोस्‍त या दुकानदार से सामान लेने के बदले ड‍िज‍िटल करेंसी से भुगतान करेंगे. सरकार की तरफ से इस पर तेजी से काम क‍िया जा रहा है. रिजर्व बैंक ऑफ इंड‍िया (RBI) डिजिटल रुपये के र‍िटेल यूज से जुड़ा पहला पायलट परीक्षण 1 दिसंबर को करेगा. इसमें पब्‍ल‍िक और प्राइवेट सेक्‍टर के चार बैंक शामिल होंगे. आरबीआई (RBI) ने डिजिटल मुद्रा के खुदरा उपयोग संबंधी पायलट परीक्षण की घोषणा की. र‍िटेल ड‍िज‍िटल रुपया (Retail Digital Rupee) एक ड‍िज‍िटल टोकन के रूप में होगा.

1 नवंबर को हुआ थोक सेग्‍मेंट का परीक्षण
केंद्रीय बैंक का कहना है 1 दिसंबर को क्‍लोज्‍ड यूजर ग्रुप (CUG) में चुनिंदा जगहों पर इस ट्रायल को किया जाएगा. इसमें ग्राहक और बैंक मर्चेंट दोनों ही शामिल होंगे. इससे पहले 1 नवंबर को आरबीआई (RBI) की तरफ से डिजिटल रुपये के थोक सेग्‍मेंट का पायलट परीक्षण क‍िया गया था. डिजिटल रुपये के र‍िटेल यूज के परीक्षण में भारतीय स्टेट बैंक (SBI) और आईसीआईसीआई बैंक (ICICI Bank) समेत चार बैंक शामिल होंगे. यह परीक्षण दिल्ली, मुंबई, बेंगलुरु और भुवनेश्वर में किया जाएगा.

लेनदेन पी2पी और पी2एम दोनों में क‍िया जा सकेगा
आरबीआई की तरफ से कहा गया ‘इलेक्ट्रॉनिक रुपया (डिजिटल टोकन के स्वरूप में होगा. यह एक वैध मुद्रा का प्रतिनिधित्व करता है. इसे कागजी मुद्रा एवं सिक्कों के मौजूदा आकार में ही जारी किया जाएगा.’ डिजिटल रुपये को बैंकों के माध्यम से वितरित किया जाएगा और उपयोगकर्ता पायलट परीक्षण में शामिल होने वाले बैंकों की तरफ से पेश किए जाने वाले डिजिटल वॉलेट के जरिये ई-रुपये में लेनदेन कर पाएंगे. यह लेनदेन पी2पी और पी2एम दोनों को ही किए जा सकेंगे.

किसी तरह का ब्याज नहीं मिलेगा
आरबीआई ने कहा कि डिजिटल रुपया परंपरागत नकद मुद्रा की तरह धारक को भरोसा, सुरक्षा एवं अंतिम समाधान की खूबियों से भी लैस होगा. आरबीआई ने कहा, ‘नकदी की तरह डिजिटल रुपया के धारक को किसी तरह का ब्याज नहीं मिलेगा और इसे बैंकों के पास जमा करने के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है.’

कैसे कर सकते हैं यूज
रिटेल डिजिटल रुपये (Retail Digital Rupee) का इस्‍तेमाल मोबाइल और अन्य गैजेट्स पर डिजिटल वॉलेट के जर‍िये लेनदेन के लिए क‍िया जाएगा. डिजिटल करेंसी (Digital Currency) को आप ए‍क व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति (P2P) और क‍िसी व्यक्ति से व्यापारी (P2M) को कर सकते हैं. र‍िटेल डिजिटल करेंसी शुरुआत में बैंकों की तरफ से वितरित की जाएगी. यह इलेक्‍ट्रॉन‍िक रूप में आपके अकाउंट में द‍िखाई देगी. इसे करेंसी नोट से भी बदला जा सकेगा. ड‍िज‍िटल रुपये (Digital Rupee) को आने वाले समय में यूपीआई से जोड़ने की तैयारी है. आरबीआई के डिजिटल रुपया कार्यक्रम में ह‍िस्‍सा लेने वाले बैंकों द्वारा पेश किए गए डिजिटल वॉलेट केवल डिजिटल करेंसी में ही लेनदेन कर सकते हैं. (इनपुट एजेंसी से भी)

पाठकों की पहली पसंद Zeenews.com/Hindi – अब किसी और की ज़रूरत नही.

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.