पाकिस्तान में मरने के बाद भी सुकून में नहीं अहमदी समुदाय… कट्टरपंथियों ने कब्रों को किया अपवित्र, लिखा- अहमदी डॉग


इस्लामाबाद : पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में धार्मिक चरमपंथियों ने अहमदियों की कई कब्रों को कथित तौर पर अपवित्र कर दिया। अल्पसंख्यक समुदाय के एक प्रवक्ता ने मंगलवार को यह जानकारी दी। ‘जमात अहमदिया पाकिस्तान’ के अधिकारी आमिर महमूद ने ‘पीटीआई-भाषा’ से कहा कि लाहौर से करीब 100 किलोमीटर दूर हाफिजाबाद जिले में प्रेम कोट कब्रिस्तान में कब्रों के पत्थरों को क्षतिग्रस्त किया गया।

उन्होंने कहा कि कब्रों को क्षतिग्रस्त करने वाले लोगों ने उन पर ‘अहमदी डॉग’ भी लिखा जो परिवारों के लिए बेहद तकलीफदेह है। उन्होंने कहा, ‘पाकिस्तान में रह रहे अहमदी मरने के बाद भी सुकून में नहीं हैं।’ महमूद ने अल्पसंख्यक समुदाय की कब्रों को अपवित्र करने की घटना में शामिल लोगों को गिरफ्तार करने की मांग की। पूर्व में भी पंजाब में अहमदी समुदाय के अन्य कब्रिस्तान में भी ऐसी घटनाएं हुई हैं लेकिन एक भी दोषी को गिरफ्तार नहीं किया या उन पर मुकदमा चलाया गया।

खून की होली से असीम मुनीर का स्वागत करेंगे आतंकी! पाकिस्तान में खौफ का दूसरा नाम… कैसे पैदा हुआ टीटीपी?
पाकिस्तान में गैर-मुस्लिम घोषित अहमदी समुदाय
इस साल अगस्त में पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में अहमदी समुदाय की 16 कब्रों को धार्मिक चरमपंथियों ने कथित तौर पर अपवित्र किया था। पाकिस्तान में अल्पसंख्यक, खासतौर से अहमदी बेहद कमजोर हैं और धार्मिक चरमपंथी उन्हें अक्सर निशाना बनाते हैं। पाकिस्तानी संसद ने 1974 में अहमदी समुदाय को गैर-मुस्लिम घोषित कर दिया था। एक दशक बाद उन्हें अपने आप को मुस्लिम कहने से भी प्रतिबंधित कर दिया गया था। उन्हें तीर्थयात्रा पर सऊदी अरब जाने से भी रोक दिया गया था।

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.