रूसी रक्षा मंत्रालय ने यूक्रेन पर ही लगाए आरोप, बयान जारी कर कहीं ये गंभीर बातें


मॉस्को: रूसी रक्षा मंत्रालय ने बयान जारी कर कहा कि यूक्रेन अपने हो लोगों को आतंकियों की तरह इस्तेमाल कर रहा है. आवासीय इलाको में तबाही पर रूस ने कहा कि यह यूक्रेन की गलती है कि वह CIA और पेंटागन से सीख कर खुद आवासीय इलाकों में ग्रैंड मल्टीपल लॉन्च रॉकेट सिस्टम और रॉकेट आर्टिलरी सिस्टम को लगा रहा है ताकि स्थानीय लोग भड़कें.

रूस ने ढेर कीं यूक्रेनी सेनाएं

डीपीआर और एलपीआर के सैनिकों के समूह रूस के सशस्त्र बलों से समर्थन के साथ यूक्रेन के सशस्त्र बलों की स्थिति पर आक्रामक सफलता प्राप्त की है. लुगांस्क पीपुल्स रिपब्लिक की इकाइयां सेवेरोडनेट्स्क दिशा में तेजी से 12 किलोमीटर की गहराई तक आगे बढ़ीं.  डोनेट्स्क पीपुल्स रिपब्लिक के सैनिकों का समूह वोल्नोवाखा की दिशा में राष्ट्रवादी बटालियनों की रक्षा में 11 किलोमीटर की गहराई तक आगे बढ़ा.

यूक्रेन की सभी सेनाएं नहीं कर रहीं युद्ध

यूक्रेन की सेना के ज्यादातर भाग लड़ाई नही कर रहे हैं, सिर्फ यूक्रेनी नाजियों की बटालियन ही विरोध कर रही हैं. इसके अलावा, आगे यूक्रेन की सेना ने यूक्रेनी सशस्त्र बलों के कुख्यात समूहों की सैन्य इकाइयों में एकीकृत किया, जिनकी संख्या 25-30 लोग थे, जिन्होंने विशेष प्रशिक्षण लिया था.

यह भी पढ़ें: रूस से जंग के बीच यूक्रेन के विदेश मंत्री ने जयशंकर को किया फोन, जानें क्या कहा

अपने ही सैनिकों को धमका रहा यूक्रेन

यूक्रेनी सैनिकों के बीच अविश्वसनीय पहचान करते हैं और अगर यूक्रेन के सशस्त्र बलों की इकाइयों के कमांडर कब्जे वाली लाइनों से हटने का फैसला करते हैं, तो वे बैराज टुकड़ियों के रूप में कार्य करते रहेंगे. कुछ जगह में, यूक्रेनी सशस्त्र बलों की पीछे हटने की संभावना को देखते हुए यूक्रेन ने खुद पुलों को उड़ा दिया. हथियार डालने वाले यूक्रेन के सैनिकों का यह कहना है कि यूक्रेन के सैनिकों को डराया और धमकाया जा रहा है कि जो लड़ाई नहीं करेगा उसे यूक्रेन की सरकार द्वारा  मार दिया जाएगा.

‘रूसी सैनिक नहीं पहुंचा रहे नुकसान’

साथ ही यह भी कहा गया है कि फिलहाल, रूस के सशस्त्र बलों की इकाइयों ने चेर्निहाइव शहर को कब्जे में करने का काम पूरा कर लिया है. रूसी सैनिक नागरिक आबादी के बीच नुकसानों को रोकने के लिए सभी उपाय कर रहे हैं.

रूस का सफल ऑपरेशन

24 फरवरी को, रूसी सशस्त्र बलों ने कीव के इलाके में गोस्टोमेल हवाई क्षेत्र में एक सफल लैंडिंग ऑपरेशन किया. ऑपरेशन में 200 से अधिक रूसी हेलीकॉप्टर शामिल थे. लैंडिंग क्षेत्र में संपूर्ण वायु रक्षा प्रणाली के दमन, हवा से युद्ध क्षेत्र के पूर्ण अलगाव और सक्रिय इलेक्ट्रॉनिक युद्ध द्वारा लैंडिंग की सफलता सुनिश्चित की गई थी.

200 से ज्यादा सैनिकों का खात्मा

हवाई क्षेत्र पर कब्जा करने के दौरान, यूक्रेन की विशेष इकाइयों के 200 से सैनिकों को खत्म कर दिया गया था. वहीं अभी तक एक भी रूसी सशस्त्र बलों में कोई हताहत नहीं हुआ है. वर्तमान में, हवाई सैनिकों के मुख्य बल पश्चिम से कीव पर कब्जा करते हुए, गोस्टोमेल हवाई क्षेत्र में रूसी सैनिकों की इकाइयों के साथ जुड़े हुए हैं. रूसी सशस्त्र बलों की इकाइयां साहस और वीरता दिखाते हुए कीव और अन्य शहरों के क्षेत्र में आगे बढ़ रही हैं.

‘आतंकियों वाले हथकंडे अपना रहा यूक्रेन’

रूसी रक्षा मंत्रालय ने यह भी कहा, हमें पता चला है कि गोस्टोमेल हवाई क्षेत्र पर हमला करने के लिए कीव में शेवचेंको स्क्वायर पर ग्रैड मल्टीपल लॉन्च रॉकेट सिस्टम माउंट तैनात किए गए हैं. पेंटागन और CIA के सलाहकारों ने यूक्रेनी सैन्य नेतृत्व को सिखाया कि आवासीय क्षेत्रों में रॉकेट आर्टिलरी सिस्टम कैसे लगाया जाए ताकि स्थानीय निवासियों पर वापसी की आग भड़क सके.

LIVE TV

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.