आज फिर होगा आफताब पूनावाला का पॉलीग्राफ टेस्ट, दिल्ली पुलिस की थर्ड बटालियन दे सकती है सुरक्षा


Aftab Polygraph Test Today: श्रद्धा हत्याकांड के आरोपी आफताब पूनावाला को मंगलवार को फिर दिल्ली के रोहिणी स्थित FSL दफ्तर लाया जाएगा. एफएसएल के अडिशनल डायरेक्टर डॉ संजीव गुप्ता का कहना है कि आज एक बार फिर आफताब का पॉलीग्राफ टेस्ट होना है. उम्मीद है कि ये आखिरी सेशन होगा. वहीं तिहाड़ जेल प्रशासन का कहना है कि सुबह लगभग 8:30 बजे आफताब को तिहाड़ से रोहिणी के लिए ले जाया जाएगा. सुबह 10 बजे तक आफताब को एफएसएल के डायरेक्टर के सामने हाजिर करने का निर्देश है.

सोमवार (28 नवंबर) को आफताब की जेल वैन पर हुए हमले के बाद तिहाड़ जेल प्रशासन ने दिल्ली पुलिस की थर्ड बटालियन से आफताब की सुरक्षा बढ़ाने के लिए कहा है. जेल प्रशासन का कहना है कि जेल से बाहर ले जाने और वापस लाने की जिम्मेदारी थर्ड बटालियन की होती है इसलिए थर्ड बटालियन से कहा गया है कि आफताब को बाहर ले जाने और वापस लाने के दौरान उसकी सुरक्षा बढ़ाई जाए.

पुलिस वैन पर हमला

अपनी लिव-इन-पार्टनर की हत्या के आरोपी आफताब अमीन पूनावाला को लेकर जा रही एक पुलिस वैन पर सोमवार को रोहिणी स्थित फॉरेंसिक विज्ञान प्रयोगशाला (FSL) के बाहर कुछ हथियारबंद लोगों ने हमला कर दिया. पूनावाला को पॉलीग्राफ जांच के लिए एफएसएल ले जाया गया था.

News Reels

‘हमलावरों को हिरासत में लिया गया’

सोमवार शाम को एक कार ने पुलिस वैन को ओवरटेक किया और उसे रुकने पर मजबूर कर दिया. उसके बाद कुछ लोग कार से उतरे और पूनावाला को लेकर जा रही वैन पर हमला कर दिया. पुलिस ने बताया कि वैन को मौके से हटा लिया गया है, दो हमलावरों को हिरासत में ले लिया गया है और हथियार जब्त कर लिए गए हैं. उन्होंने बताया कि घटना शाम को करीब 6.45 हुई. इस घटना के वीडियो सोशल मीडिया पर उपलब्ध हैं. उनमें से एक वीडियो में देखा जा सकता है कि तलवारें लिए हुए हमलावरों को तितर-बितर करने के लिए एक पुलिसकर्मी अपनी रिवाल्वर निकाल रहा है.

श्रद्धा के 35 टुकड़े करने का आरोप

बता दें कि आफताब पूनावाला ने दक्षिण दिल्ली के महरौली स्थित मकान में श्रद्धा वालकर की कथित रूप से गला दबा कर हत्या कर दी थी और उसके शरीर को 35 टुकड़ों में काटने के बाद 300 लीटर के फ्रिज में करीब तीन सप्ताह तक रखा. फिर उन टुकड़ों को कई दिनों तक शहर के अलग-अलग हिस्सों में फेंका. पूनावाला को 12 नवंबर को गिरफ्तार किया गया. अदालत ने 22 नवंबर को आफताब को चार दिनों की पुलिस हिरासत में भेजा और उसके बाद 26 नवंबर को उसे 13 दिनों की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया.

ये भी पढ़ें- कर्नाटक: कुख्यात अपराधी सुनील के साथ दिखे बीजेपी नेता, कांग्रेस ने बनाया मुद्दा, मंत्री ने मानी अपनी गलती

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.