FIFA World Cup 2022: कतर पर बरसे मिस्र के मौलाना, रोनाल्डो-मेसी को बताया इस्लाम का दुश्मन, बोले- फुटबॉल वक्त की बर्बादी


Football World Cup: कतर में हो रहा विश्वकप 2022 खेल से ज्यादा विवादों के लिए मशहूर हो रहा है. शराब पीने से लेकर घूस लेकर स्टेडियम में लड़कियों के छोटे कपड़े पहनने जैसे विवाद भी सामने आ चुके हैं. अब मिस्त्र के एक मौलाना कतर पर ही बरस पड़े. मिस्र के मौलाना युनूस माखियॉन ने अपने बयान में फुटबॉल को समय की बर्बादी बताते हुए मेसी और रोनाल्डो जैसे खिलाड़ियों को इस्लाम का दुश्मन (काफिर) कह दिया. यही नहीं मौलाना युनूस माखियॉन ने तो यहां तक कह दिया कि फुटबॉल पर खर्च करने की बजाय परमाणु बम बनाने में पैसा खर्च करना चाहिए था.

क्या बोले मौलाना

अपने बयान में मौलाना ने कहा, यह मुसलमानों के समय की बर्बादी है. मुसलमानों के पास फ़ुटबॉल देखने का समय नहीं है. हम चाहते हैं कि सभी लोग खेलों में शामिल हों, लेकिन हमारे देश का इस जीवन में एक लक्ष्य है. आपको ऐसा करना चाहिए ताकि आप अल्लाह की इबादत कर सकें और दुश्मनों के खिलाफ जिहाद छेड़ सकें. जिन खिलाड़ियों को निम्न से निम्नतम माना जाना चाहिए क्योंकि वे काफिर, विधर्मी या पथभ्रष्ट हैं, उन्हें कुर्सी पर बिठाया जा रहा है और सितारों की तरह व्यवहार किया जा रहा है. यह एक बहुत बड़ी समस्या है.

रोनाल्डो पर कसा तंज

मौलाना ने आगे कहा, आप देखते हैं कि लोग अमुक-अमुक से प्रभावित होते हैं और उसके उदाहरण का अनुसरण करते हैं, भले ही वह इस्लाम का दुश्मन है, उदाहरण के लिए मेसी. हमें इस बात का गर्व नहीं है कि एक अरब देश (कतर) विश्व कप की मेजबानी कर रहा है और उस पर अरबों खर्च कर चुका है. हम चाहते हैं कि हम अन्य क्षेत्रों में उन पर गर्व कर सकें. उदाहरण के लिए, वे ईरान की तरह परमाणु बम बना सकते थे. उन्होंने कहा, रोनाल्डो ने कहा था कि वह अपने बच्चों की मां से शादी रचाएगा. लेकिन उससे पहले क्या? निकाह से पहले बच्चे किसके हैं? दरअसल क्रिस्टियानो रोनाल्डो की शादी नहीं हुई है लेकिन उनके बच्चे हैं. इसी संदर्भ में मौलाना ने उन पर कटाक्ष किया. 

पाठकों की पहली पसंद Zeenews.com/Hindi, अब किसी और की जरूरत नहीं

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.