दिल्ली के पांडव नगर में बेटे के साथ अपने पति को मारने के बाद 10 टुकड़े करने वाली हैवान मां की कहानी भी दिलचस्प है, बताया गया कि महिला का पहला पति लापता हो गया था और दूसरे की बीमारी से मौत हो गई थी


पांडव नगर, नई दिल्ली: करीब 25 साल पहले आरोपी पूनम दिल्ली आई थी। पूनम मूलरूप से झारखंड के देवघर की रहने वाली है। पूछताछ में उसने बताया कि महज 13 साल की उम्र में उसकी शादी आरा, बिहार निवासी सुखदेव तिवारी से हो गई थी। इस शादी से उसने एक बेटी को जन्म दिया। जब पूनम 14 साल की थी तो उसका पति काम के लिए दिल्ली आ गया, जिसके बाद वह वापस नहीं लौटा। पूनम साल 1997 में बेटी के साथ पति की तलाश में दिल्ली पहुंची। यहां संभावित ठिकानों पर पति सुखदेव तिवारी को खूब ढूंढा, मगर उसका कुछ पता नहीं चला।

इसी दौरान पूनम की जिंदगी में त्रिलोकपुरी निवासी कल्लू की एंट्री हुई। दोनों का परिचय बढ़ा तो वे साथ रहने लगे। कल्लू के साथ जुड़े रिश्ते से पूनम ने बेटे दीपक (हत्या का आरोपी) और दो बेटियों को जन्म दिया। पूनम की चार साल की एक बेटी की छत से गिरने के कारण मौत हो गई। कल्लू को शराब की लत थी और वह बेरोजगार था। उसी घर के ऊपरी फ्लोर पर साल-2011 में पूनम की जान-पहचान अंजन दास से हुई। पूनम अंजन के करीब आ गई और दोनों एक-दूसरे को पसंद करने लगे। साल-2016 में लिवर फेल होने की वजह से कल्लू की मौत हो गई। इसके बाद पूनम ने अंजन के साथ रहना शुरू कर दिया। बाद में पूनम को पता चला अंजन तो पहले से शादीशुदा है, जिसके आठ बच्चे (सात बेटी और एक बेटा) पहली पत्नी से हैं। अंजन ने भी काम करना बंद कर दिया और पूनम के भरोसे रहने लगा।

न नाम, न पहचान, 10 टुकड़ों में मिला शव, दिल्ली पुलिस ने कैसे सुलझाई पांडव नगर हत्याकांड की गुत्थी, यहां जानिए सबकुछ
अंजन ने पूनम की जूलरी और रुपये चोरी करने शुरू कर दिए, जिन्हें वह बिहार में रह रही पहली पत्नी और बच्चों को भेजने लगा। इस बात को लेकर पूनम और अंजन के बीच झगड़ा होता था। सब कुछ जैसे-तैसे इनकी जिंदगी में चल रहा था, लेकिन फिर पूनम के बेटे दीपक की शादी साल-2018 में हुई। सौतेले पिता अंजन की हरकतों से तंग आकर दीपक पत्नी के साथ कल्याणपुरी इलाके में एक अलग घर में रहने लगा था। इस साल मार्च-अप्रैल में पूनम को पता चला उसका पति अंजन तलाकशुदा बेटी और दीपक की पत्नी पर बुरी नजर रखता है। वह छेड़छाड़ और रेप की कोशिश भी कर चुका था। यह बात जब दीपक को पता चली तो उसे बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं हुआ। ऊपर से पूनम को अंजन के दूसरी महिलाओं के साथ अवैध रिश्तों का भी पता चल चुका था। अंजन की इन आदतों से परेशान होकर मां-बेटे ने मिलकर उसे खत्म कर देने का प्लान बना लिया।

रोज फ्रिज से लाश का एक टुकड़ा निकालते थे मां-बेटा… पांडव नगर में श्रद्धा जैसे मर्डर केस की पूरी कहानी

Delhi Pandav Nagar Murder: पांडव नगर में श्रद्धा जैसा मर्डर: रोज घर से तेज आवाजें आती थीं, पड़ोसी बता रहे अंदर की पूरी कहानी

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.