‘भाई साहब, राहुल गांधी को मैंने सालों पहले छोड़ दिया है’, आखिर क्यों बोले राहुल गांधी


Rahul Bharat Jodo Yatra: कोई आपसे ये कहे कि मैंने खुद को बहुत पहले छोड़ दिया है तो, चौंक जाएंगे न. उसमें भी राहुल गांधी जैसा बड़ा नेता ये बोले तो चौंकने के साथ हैरान भी होना लाजमी है. राहुल गांधी ने राहुल गांधी को बहुत साल पहले छोड़ दिया है. सुनकर थोड़ा अटपटा लग रहा है लेकिन, कांग्रेस (Congress)के वरिष्ठ नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने ही खुद ये बात कही है. 

दरअसल कांग्रेस नेता राहुल गांधी भारत जोड़ा यात्रा (Bharat Jodo Yatra) के सिलसिले में मध्य प्रदेश में हैं. कांग्रेस नेता राहुल गांधी इंदौर में प्रेस वार्ता कर मीडिया के सवालों का जवाब दे रहे थे. उस वक्त राहुल गांधी के मुंह से ये बात निकली. 

‘भाई साहब, राहुल गांधी को मैंने बहुत सालों पहले छोड़ दिया है’

इंदौर में प्रेस वार्ता के दौरान एक पत्रकार ने राहुल गांधी से यात्रा को लेकर एक सवाल पूछना चाहा. कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने बीच में ही रोककर दार्शनिक अंदाज में जवाब दिया. उन्होंने कहा कि भाई साहब, राहुल गांधी को मैंने बहुत सालों पहले छोड़ दिया है. राहुल गांधी आपके दिमाग में है, मेरे दिमाग में नहीं. 

News Reels

दो-तीन बार यहीं जवाब देने के बाद राहुल गांधी ने सवाल पूछने को कहा. राहुल गांधी से सवाल पूछा गया कि उनका ये जो मास कनेक्ट प्रोग्राम है यानी भारत जोड़ो यात्रा, क्या इसे पहले नहीं शुरू कर देना चाहिए था. राहुल गांधी ने इस सवाल का जवाब भी दार्शनिक अंदाज में ही दिया. उन्होंने कहा कि चीजें समय से ही होती हैं, जब टाइम आता है तो बात बनती है. उससे पहले नहीं होता है. 

सबसे पहले 25 की उम्र में आया था ये खयाल

इस दौरान उन्होंने एक नई जानकारी दी कि भारत जोड़ो यात्रा जैसे कार्यक्रम के लिए उनके दिमाग में पहली बार विचार तब आए थे, जब उनकी आयु 25-26 साल की थी. फिलहाल जो भारत जोड़ो यात्रा चल रही है उसके बारे में राहुल गांधी ने डिटेल प्लानिंग एक साल पहले की थी. राहुल गांधी ने कहा कि कोरोना और दूसरी वजहों से उस वक्त यात्रा शुरू नहीं हो पाई. इसके आगे उन्होंने जोड़ा कि भारत जोड़ो यात्रा के लिए सबसे सही वक्त अभी ही है.

इसी प्रेस वार्ता में कांग्रेस नेता ने राजस्थान प्रदेश कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष सचिन पायलट और राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बीच तनातनी पर भी बयान दिया. राहुल गांधी ने दोनों नेताओं को पार्टी की संपत्ति बताया और कहा कि किसी भी नेता की बयानबाजी का भारत जोड़ो यात्रा पर कोई असर नहीं पड़ेगा. इस दौरान राहुल गांधी दोबारा अमेठी से चुनाव लड़ने के सवाल का सीधा जवाब देने से बचते दिखे. उन्होंने कहा कि इसका जवाब साल-डेढ़ साल बाद मिल सकेगा और अभी उनका पूरा ध्यान भारत जोड़ो यात्रा पर है.

ये भी पढ़ें: Bharat Jodo Yatra: राहुल गांधी की आमसभा में बढ़ा दो नेताओं का कद, दिग्विजय सिंह और कमलनाथ के लगे कटआउट

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.