यह विटामिन की कमी कर देता है आपकी रीढ़ की हड्डी को खराब, ये 8 संकेत देखते ही हो जाइए सावधान


विटामिन बी 12 (विटामिन बी-12) शरीर के लिए एक आवश्यक पोषक तत्व है, जो मेटाबॉलिज्म, नसों और रक्त कोशिकाओं को नियंत्रित करता है। इस विटामिन की कमी से शरीर में पर्याप्त रेड ब्लड सेल्स का पता नहीं चलता, जो ऑक्सीजन को सभी हिस्सों में पहुंचाने के लिए जरूरी है। विटामिन बी 12 कई तरह के खाद्य पदार्थों में मौजूद होता है, फिर भी कई लोग इसकी कमी से ग्रसित होते हैं।

विटामिन बी 12 की कमी (विटामिन बी की कमी) होने से जलन, पेट और आंतों की बीमारी जिसमें न्यूरो से जुड़े कई तरह के कैंसर होने की आशंकाएं हैं। हाल ही में, विटामिन बी 12 की कमी से 13 साल के लड़के की रीढ़ की हड्डी (रीढ़ की हड्डी) डैमेज का मामला भी सामने आया। ऐसे में आपको जरूर है विटामिन बी 12 के कमी के लक्षण काटा हो।

​बी 12 की कमी से हुआ 13 साल के बच्चे का यह हाल

B12deficiency.info एक अध्ययन के अनुसार, 13 साल के जेजे को सालभर से चलने में काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा था। इसके बाद 2006 में निमोनिया, जेनेटिक डिजीज ‘विल्सन’, पीलिया जैसी बीमारियों ने एक के बाद एक जेजे का शरीर कमजोर कर दिया था।

अगस्त 2007 में, बताया गया कि जेजे को एक ऑटोइम्यून स्थिति है जिसमें पेट विटामिन बी 12 को अवशोषित नहीं किया जाता है। इसे पर्निशियस कहते हैं। क्योंकि इसका लंबे समय तक निदान नहीं किया गया था, इस बीमारी ने जेजे की रीढ़ की हड्डी को बुरी तरह से डैमेज कर दिया था। इसके अलावा जेजे को कई फ्रैक्चर और दम घुटने से भी चोट लगी थी।

​शरीर में कितनी मात्रा में होना चाहिए विटामिन बी 12

-12
  • 6 महीने तक के शिशु: प्रतिदिन 0.4 एमसीजी
  • 7-12 महीने के शिशु: प्रतिदिन 0.5 एमसीजी
  • 1-3 साल की उम्र के बच्चे: प्रतिदिन 0.9 एमसीजी
  • 4-8 साल के बच्चे: प्रतिदिन 1.2 एमसीजी
  • 9-13 वर्ष के बच्चे: प्रतिदिन 1.8 एमसीजी
  • 14-18 वर्ष के किशोर : प्रतिदिन 2.4 एमसीजी
  • वयस्क: प्रतिदिन 2.4 एमसीजी
  • प्रेक्षण: प्रतिदिन 2.6 एमसीजी
  • एक्सट्रास्टैंडिंग मदर: प्रतिदिन 2.8 एमसीजी

विटामिन बी -12 के कमी के लक्षण

-12-
  • थकान या कमजोरी
  • मतली, उल्टी या दस्त
  • भूख में कमी
  • खून की कमी
  • वजन घटना
  • मुंह या जीभ में दर्द होना
  • पीली त्वचा होना
  • हाथों और टांगों में सलता या झुनझुनी
  • मुसीबत में
  • चीजों को याद रखना मुश्किल है
  • या चलने में बोलने वाला
  • तंत्रिका संबंधी विकार
  • अवसाद
  • क्रंदन
  • व्यवहार में परिवर्तन

ऐसे चलता है विटामिन बी 12 की कमी का पता

-12-

क्लीवलैंड चिकित्सीय के अनुसार, रक्त में विटामिन बी12 की मात्रा 150 प्रति एमएल से कम होने पर बॉडी में विटामिन बी12 की कमी होती है। विटामिन बी 12 की कमी का निदान करना मुश्किल हो सकता है क्योंकि लक्षण हमेशा मौजूद नहीं होते हैं। ऐसे में नियमित ब्लड चेकअप करना जरूरी होता है। इसके लिए विटामिन बी 12 ब्लड टेस्ट लेवल और सीबीसी टेस्ट किया जाता है।

विटामिन बी 12 की कमी से होती हैं ये बीमारियां

-12-

एनएचएस के अनुसार, बॉडी में विटामिन बी 12 की कमी के अलावा न्यूरोलॉजिकल प्रॉब्लम, इंफर्टिलिटी, पेट का कैंसर जैसी बीमारियों का खतरा होता है।

​कैसे दूर करें विटामिन बी 12 की कमी

-12-

आप विटामिन बी 12 की कमी से बचने के लिए एनिमल बेस्ड खाद्य पदार्थों का सेवन कर सकते हैं। इन खाद्य पदार्थों में विटामिन बी 12 संभावित मात्रा में मौजूद होता है। ऐसे दायरे में उत्पाद, अंडा, मछली, मांस और चिकन का सेवन आपके लाभ के लिए हो सकता है।

अस्वीकरण: यह लेख केवल सामान्य जानकारी के लिए है। यह किसी भी तरह से किसी दवा या इलाज का विकल्प नहीं हो सकता। ज्यादा जानकारी के लिए हमेशा अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.