आफताब बार-बार फोरेंसिक टीम को दे रहा है चकमा, आज फिर हो सकता है पॉलीग्राफ टेस्ट


Shraddha Murder Case: श्रद्धा हत्याकांड के आरोपी आफताब (Aftab Poonawala) तिहाड़ जेल में है. आफताब का आज फिर से पॉलीग्राफ टेस्ट किया जा सकता है. इससे पहले पॉलीग्राफ टेस्ट के लिए तीन बार कोशिश की जा चुकी है, लेकिन टेस्ट पूरा नहीं हो सका. आफताब ने अपना शातिर दिमाग लगाकर टेस्ट को बीच में ही रुकवा दिया था. वह टेस्ट के दौरान जानबूझकर बार-बार खांसने लगता था, जिससे टेस्ट को रोकना पड़ा था. 

पॉलीग्राफ टेस्ट के दौरान आफताब ने कई अहम सवालों का जवाब नहीं दिया, आज फिर से उससे वो सवाल किए जा सकते हैं. फोरेंसिक साइंस लैब के असिस्टेंट डायरेक्टर संजीव गुप्ता ने कहा, ‘हमने आफताब का पॉलीग्राफ टेस्ट पूरा करने के लिए वीकेंड पर भी लैब खुली रखी थी. रविवार को हमें जांच टीम ने बताया कि उन्होंने तिहाड़ जेल से आफताब का पॉलीग्राफ टेस्ट कराने की मंजूरी ले ली है. उम्मीद है कि उसे आज लैब लाया जाए.’ 

आफताब के नार्को टेस्ट की तैयारियां पूरी

पॉलीग्राफ टेस्ट के बाद आफताब का नार्को टेस्ट भी होना है. नार्को टेस्ट के लिए भी तैयारियां शुरू हो चुकी हैं. एफएसएल के असिस्टेंट डायरेक्टर संजीव गुप्ता ने कहा, ‘हमने नार्को टेस्ट की सारी तैयारियां कर ली हैं. मंगलवार शाम को आफताब के नार्को टेस्ट का पहला सेशन किया जा सकता है. दूसरा सेशन बुधवार को किया जा सकता है. यदि आफताब की तबीयत खराब हो गई, तो दूसरा और तीसरा सेशन गुरुवार-शुक्रवार को किया जा सकता है.’

News Reels

पॉलीग्राफ टेस्ट को आफताब ने दिया चकमा

एफएसएल के असिस्टेंट डायरेक्टर ने बताया कि आफताब ने केस से जुड़े कई सवालों का कोई जवाब ही नहीं दिया. इस दौरान वो खांसने और छींकने लगा, इससे मशीन की रीडिंग भी प्रभावित हो रही थी. जिसकी वजह से अब हमें फिर से पॉलीग्राफ टेस्ट करना पड़ेगा. पॉलीग्राफ टेस्ट के दौरान आफताब से हत्या संबंधी घटनाक्रम, आरोपी के श्रद्धा के साथ संबंध, उनके बीच तनाव, श्रद्धा के मृत शरीर के टुकड़े फेंके जाने वाली जगहों, हथियार आदि के बारे में सवाल पूछे गए.

तिहाड़ जेल में CCTV से रखी जा रही नजर

शनिवार को कोर्ट ने उसे न्यायिक हिरासत में भेज दिया था, जिसके बाद तिहाड़ की जेल नंबर-4 में रखा गया. यहां इसे वॉर्ड नंबर-15 के सेल नंबर-16 में रखा गया. आम तौर पर इस जेल में विचाराधीन कैदियों और पहली बार जेल जाने वाले कैदियों को रखा जाता है, ताकि वो जेल के अन्य कैदियों से दूर रहे. जेल में आफताब से भी किसी के मिलने पर पाबंदी है. जेल में लगे सीसीटीवी कैमरों से उसके हर मूवमेंट पर नजर रखी जा रही है. सूत्रों के मुताबिक जेल में भी आफताब के चेहरे पर कोई सिकन नजर नहीं आई. एहतियात के लिए उसके सेल के बाहर भी एक पुलिसकर्मी हमेशा तैनात रहता है.

ये भी पढ़ें-Shraddha Murder Case: सोमवार को हो सकता है आफताब का नार्को टेस्ट, सामने आएगा श्रद्धा हत्याकांड का पूरा सच?

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.