मोरक्को का गोलकीपर मैच से ठीक पहले रहस्यमयी तरीके से गायब, वर्ल्ड कप में हंगामा


दोहा: मोरक्को के नियमित गोलकीपर यासिने बोनोऊ रविवार को यहां बेल्जियम के खिलाफ विश्व कप मैच के शुरू होने से पहले रहस्यमयी ढंग से गायब हो गए। हालांकि इस मैच में मोरक्को ने बेल्जियम को 2-0 से हराकर उलटफेर किया। बोनोऊ मोरक्को टीम के साथ राष्ट्रगान के लिए खड़े हुए थे और फिर उन्होंने कोच वालिद रेग्रागुई से बात की जिन्होंने उन्हें गले लगाया और अपने रिजर्व गोलकीपर से बात के लिए मुड़े।

रिजर्व गोलकीपर मुनीर अल काजौरी दौड़ते हुए मैदान में आये और मैच की पूर्व ली जानी वाली टीम फोटो में शामिल हुए। उन्होंने दूसरी रैंकिंग की बेल्जियम टीम को कोई गोल नहीं करने दिया। मोरक्को टीम या मैच अधिकारियों ने बोनोऊ की अनुपस्थिति के लिये तुरंत कोई बयान नहीं दिया। मोरक्को टीवी चैनल 2एम ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर कहा कि उन्हें मैच शुरू होने से पहले थोड़े चक्कर आ रहे थे और उन्होंने रिजर्व गोलकीपर लाने की बात कही।

कोई बड़ा खिताब नहीं जीतने वाली उम्रदराज सितारों की टीम के कई खिलाड़ियों के लिए यह संभवत: अंतिम विश्व कप होगा। मोरक्को के स्थानापन्न अब्देलहामिद साबिरी ने 73वें मिनट में बायीं ओर से फ्री किक पर गोल कर अपनी टीम को बढ़त दिलायी जो गोलकीपर थिबॉट कोर्टोइस के शरीर के नीचे आ गया। टीम के लिए दूसरा गोल जकारिया अबोखलाल ने हाकिम जियेच के पास पर स्टॉपेज टाइम में किया जो नेट के ऊपरी हिस्से में लगा।

ब्राजील के बाद दुनिया की दूसरी रैंकिंग की टीम बेल्जियम ने इस उलटफेर से पहले विश्व कप में पिछले सात ग्रुप मैच जीते थे। यह मोरक्को की 1998 के बाद विश्व कप में पहली और कुल तीसरी जीत है। बेल्जियम अगर मोरक्को को हरा देती तो वह गत चैम्पियन फ्रांस के साथ नॉकआउट चरण में क्वालीफाई करने वाली दूसरी टीम बन जाती। बेल्जियम अब ग्रुप के अपने महत्वपूर्ण अंतिम मैच में 2018 के फाइनल में पहुंची क्रोएशिया से भिड़ेगा जबकि मोरक्को का सामना कनाडा से होगा।

FIFA World Cup: लियोनेल मेसी की दीवानगी तो देखिए, विश्व कप में मैच देखने पहुंचे 28 साल में सबसे अधिक दर्शक

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.