Russia Ukraine War: भाड़ में जाओ… स्नेक आइलैंड पर रूसी युद्धपोत के सामने डटे 13 यूक्रेनी सैनिक शहीद, मिला सर्वोच्च सम्मान


कीव: रूस-यूक्रेन युद्ध (Russia Ukraine War) लगातार दूसरे दिन भी जारी है।। यूक्रेन ने दावा किया है कि रूसी सेना अब राजधानी कीव के अंदर (Russian troops in Kyiv घुस चुकी है। जिसके बाद यूक्रेन के रक्षा मंत्रालय ने आम लोगों से सेना में शामिल होने की अपील की है। दोनों देशों के युद्ध (Russia Ukraine Crisis) दौरान कई भावुक घटनाएं भी सामने आ रही हैं। इसी में से एक है स्नेक आइलैंड (Snake Island War) का युद्ध। इस द्वीप पर तैनात यूक्रेनी सैनिकों ने रूसी चेतावनी की नजरअंदाज कर सरेंडर करने से इनकार कर दिया। भीषण युद्ध (War Of Snake Island) के दौरान रूसी युद्धपोत ने इन 13 यूक्रेनी सैनिकों को मारकर द्वीप पर कब्जा कर लिया। इस घटना की जानकारी होने के बाद पूरे यूक्रेन में शहीद हुए 13 सैनिकों की शान में कसीदे पढ़े जा रहे हैं। इन सैनिकों की वीरता को देखते हुए यूक्रेनी सरकार ने हीरो ऑफ यूक्रेन सम्मान से भी नवाजा है।

यूक्रेन के 13 बॉर्डर गार्ड सैनिक हुए शहीद
स्नेक आइलैंड ओडेसा के दक्षिण में काला सागर में स्थित एक छोटा द्वीप है। यूक्रेन ने इस द्वीप की सुरक्षा के लिए 13 सैनिकों को तैनात किया हुआ था। इस बीच रूसी नौसेना के काला सागर बेड़े के एक युद्धपोत को इस द्वीप पर कब्जा करने का आदेश दिया गया। रूसी युद्धपोत ने द्वीप के नजदीक पहुंचकर मुठ्ठी भर यूक्रेनी सैनिकों से आत्मसमर्पण करने को कहा। पर, वहां मौजूद यूक्रेनी सैनिकों ने बहादुरी का परिचय देते हुए रूसी सैनिकों को गाली देते हुए झुकने से इनकार कर दिया। जिसके बाद युद्धपोत पर तैनात रूसी सैनिकों की जवाबी गोलीबारी में यूक्रेन के सभी 13 सैनिक वीरगति को प्राप्त हुए।

जवानों को मिला हीरो ऑफ यूक्रेन का खिताब
यूक्रेनी विदेश मंत्रालय ने ट्वीट कर बताया है कि रूस ने यूक्रेन के स्नेक आइलैंड पर कब्जा कर लिया है। रूसी सेना ने वहां तैनात 13 यूक्रेनी सैनिकों को सरेंडर करने से मना करने पर मार दिया है। उनकी बहादुरी और दिलेरी को देखते हुए सभी 13 सैनिकों को मरणोपरांत हीरो ऑफ यूक्रेन के खिताब से नवाजा गया है।

Ukraine Russia War Updates: युद्ध के बीच फंसे हजारों भारतीय कैसे लौटेंगे घर, जानिए अब क्या तीन रास्ते

रूसी नौसेना के इन युद्धपोतों ने किया स्नेक आइलैंड पर कब्जा
रिपोर्ट के अनुसार, रूसी नौसेना ने स्नेक आइलैंड पर कब्जे के लिए क्रूजर मस्कोवा और पेट्रोल शिप वसीली बायकोव को भेजा था। इन दोनों युद्धपोतों की ताकत काफी ज्यादा है। मस्कोवा रूसी नौसेना के अटलांट क्लास का गाइडेड मिसाइल क्रूजर है। इस युद्धपोत का नामांकर रूस की राजधानी मास्को के नाम पर किया गया है। यह युद्धपोत रूसी नौसेना के काला सागर फ्लीट में सबसे ताकतवर है। मस्कोवा समुद्र में 59 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चल सकता है। इस युद्धपोत पर 16 की संख्या में पी-500 एंटी शिप मिसाइल लगे हुए हैं। इसके अलावा 64 एस-300 एफ फोर्ट लंबी दूरी की सतह से हवा में मार करने वाली मिसाइल और 40 कम दूरी की सरफेस टू एयर मिसाइल लगी हुई है।

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.