What is RSI indicator: यूक्रेन संकट के बीच शेयरों पर लगाना है दांव तो इस इंडिकेटर्स का रखें ध्यान


मुंबई: निफ्टी 50 (Nifty 50) के लिए 24 फरवरी, 2022 का दिन मार्च 2020 के बाद दूसरा सबसे खराब दिन रहा। यूक्रेन में संकट गहराने के कारण शेयर बाजारों में भारी गिरावट आई। रूस ने कल यूक्रेन पर जमीन, आसमान और जलमार्ग से हमला किया। यह द्वितीय विश्वयुद्ध के बाद यूरोप में किसी देश का दूसरे देश पर सबसे जबरदस्त हमला था।

कल निफ्टी की शुरुआत खराब रही और वह दिनभर गिरता रहा। आखिरकार यह इंडेक्स दिन के न्यूनतम स्तर के करीब बंद हुआ। निफ्टी 816 अंक यानी 4.8% की गिरावट के साथ 16,248 अंक पर बंद हुआ। लगातार सातवें दिन निफ्टी गिरावट के साथ बंद हुआ। एशियाई सूचकांकों में निफ्टी सबसे खराब प्रदर्शन करने वाले इंडेक्सेज में शामिल रहा।

शेयरों पर दाव लगाने से पहले आपको कई इंडिकेटर्स पर ध्यान रखना चाहिए। इनमें मार्केट कैप, वॉल्यूम, मूविंग एवरेज आदि शामिल हैं। इसी तरह रिलेटिव स्ट्रेंथ इंडेक्स (RSI) भी एक मूमेंटम इंडिकेटर है जो निश्चित रूप से आपको शेयरों के चयन में मदद देगा।

New to the stock market? Take your ‘First Step’, a revolutionary product from the house of “Dalal Street Investment Journal”, India’s #1 investment magazine since 1986. Click here to know more.

(Disclaimer: This above is third party content and TIL hereby disclaims any and all warranties, express or implied, relating to the same. TIL does not guarantee, vouch for or endorse any of the above content or its accuracy nor is responsible for it in any manner whatsoever. The content does not constitute any investment advice or solicitation of any kind. Users are advised to check with certified experts before taking any investment decision and take all steps necessary to ascertain that any information and content provided is correct, updated and verified.)

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.