Stock Market Prediction: आज Titan Company और Dr Reddy’s Labs समेत इन शेयरों से रहें दूर, आ सकती है तगड़ी गिरावट


हाइलाइट्स

  • गुरुवार को बाजारों में भारी बिकवाली देखी गई
  • एसएंडपी 500 शुरुआती कारोबार में दो प्रतिशत टूट गया
  • सेंसेक्स के सभी 30 शेयर काफी नुकसान में रहे

नई दिल्ली: रूस के यूक्रेन पर सैन्य हमले का गुरुवार को घरेलू शेयर बाजारों (Domestic Stock Markets) के साथ-साथ वैश्विक शेयर बाजारों पर भी बेहद ज्यादा नकारात्मक असर देखने को मिला। बाजारों में भारी बिकवाली देखी गई। तीस शेयरों पर आधारित सेंसेक्स (BSE Sensex) कारोबार के दौरान एक समय करीब 2,850 अंक तक नीचे चला गया था। अंत में यह 2,702.15 अंक यानी 4.72 प्रतिशत का गोता लगाकर 54,529.91 अंक पर बंद हुआ। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी (Nifty50) 815.30 अंक यानी 4.78 प्रतिशत टूटकर 16,247.95 अंक पर बंद हुआ।

सेंसेक्स के सभी 30 शेयर काफी नुकसान में रहे। यूरोप और एशिया के प्रमुख बाजारों में चार प्रतिशत तक की गिरावट रही। इसी रुख के अनुरूप अमेरिकी बाजार भी गिरावट के रुख के साथ खुले। एसएंडपी 500 शुरुआती कारोबार में दो प्रतिशत टूट गया। यूक्रेन पर रूस के हमले के बीच कच्चे तेल के दाम 100 डॉलर प्रति बैरल के पार चले गए हैं।

शेयर बाजारों में यूक्रेन पर हमले की सुगबुगाहट से ही गिरावट आनी शुरू हो गई थी। पिछले 7 सत्रों से गिरावट का दौर जारी है। ऐसे में शुक्रवार को भी इसके बने रहने की संभावना है। रूस और यूक्रेन संकट अब क्या रूप लेगा, इस पर अनिश्चितता बरकरार है। विश्लेषकों ने निवेशकों को सावधान रहने की सलाह दी है। Chartviewindia.in के मजहर मोहम्मद का कहना है कि अगर निफ्टी में कमजोरी बनी री तो यह 15,900 के स्तर तक या फिर इससे नीचे भी जा सकता है।

आज किन शेयरों से रहें दूर
शुक्रवार को किसी भी शेयर में तेजी रहने की संभावना न के बराबर है। आशंका है कि शुक्रवार शेयर बाजार के निवेशकों के लिए ब्लैक फ्राइडे न साबित हो जाए। जहां तक गिरावट की बात है तो Orient Refractories, Bajaj Holdings, Dr Reddy’s Labs, Escorts, Marico और Titan Company के शेयरों में तगड़ी गिरावट देखने को मिल सकती है।

लिवाली और बिकवाली को लेकर क्या संकेत
आज किसी भी शेयर में लिवाली होने के आसार नहीं हैं। दूसरी ओर PNB, HEG, Bank of India, Wockhardt, NBCC, RBL Bank और Restaurant Brands Asia के शेयरों में जमकर बिकवाली हो सकती है। इसकी वजह है कि पिछले ट्रेड में इनके शेयर 52 सप्ताह के निचले स्तर तक आ गए थे। गुरुवार को बीएसई 500 सूचकांक में शामिल शेयरों में से 97 शेयर 52 सप्ताह के निचले स्तर पर आ गए थे।

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.