Vidisha Girl in Ukraine: यूक्रेन में फंसी छात्रा की मां के साथ पहले भद्दा मजाक, फिर PMO के नाम पर फ्रॉड


मध्य प्रदेश के विदिशा की रहने वाली वैशाली विल्सन (Vaishali Wilson) के आंसू नहीं थम रहे। उनकी बेटी यूक्रेन में फंसी (Vidisha Girl Shrishti in Ukraine) है, जिसकी टेंशन उन्हें खाए जा रही थी और अब किसी ने इसकी आड़ में उनके साथ बड़ा फ्रॉड (Vidisha Mother Fraud) कर दिया। इतना ही नहीं, मध्य प्रदेश के प्रशासन ने भी उनके साथ भद्दा मजाक किया। आइए आपको बताएं वैशाली की पूरी कहानी

दरअसल, वैशाली की बेटी सृष्टि विल्सन यूक्रेन की राजधानी कीव में मेडिकल की पढ़ाई कर रही है। यूक्रेन से कई भारतीय छात्रों को स्वदेश लाया गया है, लेकिन इसमें वैशाली का नंबर नहीं आ पाया। उधर रूस और यूक्रेन के बीच हालात बेहद तनावपूर्ण होते जा रहे थे। सृष्टि का परिवार भारी टेंशन में था कि अब बेटी कैसे वापस आएगी। मां वैशाली विल्सन ने एमपी में सीएम हेल्पलाइन में शिकायत करके मदद मांगी। जवाब मिला- आप यूक्रेन थाने में रिपोर्ट दर्ज करवाएं।

वैशाली के साथ हुए इस भद्दे मजाक की खबरें मीडिया में आईं तो बुधवार को उनके पास प्रधानमंत्री कार्यालय के नाम से एक कॉल आया। उनके कहा गया कि बेटी के लौटने के लिए 27 फरवरी का टिकट करा दिया गया है, आप 42 हजार रुपए जमा करा दीजिए। फोन करने वाले ने अपना नाम प्रिंस बताया और कहा कि वो पीएमओ में असिस्टेंट है। बेटी की सुरक्षा के लिए बेचैन मां ने यहां वहां से पैसे जुटाकर दिए गए अकाउंट नंबर में जमा करा दिए और निश्चिंत हो गईं कि अब तो बेटी घर आ ही जाएगी। वैशाली ने बताया कि उसकी इस शख्स से कई बार बात हुई और उन्हें जरा भी शक नहीं हुआ। लेकिन पैसे जमा करने के बाद से ही इस शख्स का नंबर अब बंद आ रहा है। वैशाली ने अब पुलिस में ठगी की शिकायत दर्ज कराई है।

अकसर देखा गया कि किसी भी संकट के समय ऐसे फ्रॉड सक्रिय हो जाते हैं और लोगों की मजबूरी का फायदा उठाना शुरू कर देते हैं। वैशाली ऐसे ही किसी ठग का शिकार हो गईं। यह सच है कि यूक्रेन में अब भी हजारों भारतीय फंसे हुए हैं, लेकिन भारत सरकार उन्हें स्वदेश लाने की हर संभव कोशिश में जुटी हुई है। ऐसे तमाम लोगों से नवभारत टाइम्स ऑनलाइन भी अपील करता है कि किसी के झांसे में ना आएं और सरकार पर भरोसा रख इंतजार करें।

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.