One day old baby buried alive in the ground covered with stone and thorn farmer saved mpsg


शिवपुरी. शिवपुरी जिले में रोंगटे खड़े कर देने वाली करतूत की गयी. यहां एक दिन का शिशु गढ्ढे (New born baby) में पड़ा मिला. उसे पत्थरों और कांटे डालकर दबा दिया गया था. लेकिन जाको राखें साइंया मार सके न कोय…वाली कहावत फिर सच साबित हुई. बच्चे को बचा लिया गया और अब वो जिला अस्पताल में भर्ती है. वहां का स्टाफ उसकी अच्छी तरह देखभाल कर रहा है.

ये दिल दहलाने वाला वाकया शिवपुरी जिले की पोहरी तहसील के सरजापुर गांव का है. नवजात का जन्म होते ही उसे किसी ने मरने के लिए गढ्ढे में फेंक दिया था. कोई देख न ले इसलिए उसके ऊपर पत्थर और कांटे रख दिए गए थे. लेकिन उसकी किस्मत में तो जिंदगी थी.

गढ्ढे में दबा था नवजात
बच्चे को उसके घरवाले मरने के लिए छोड़ गए थे. लेकिन उसकी रोने की आवाज वहां पशु चरा रहे एक किसान ने सुन ली. उसने पत्थर हटाए तो सन्न रह गया. किसान ने गांव वालों को खबर दी और फिर डायल 100 पर फोन किया गया. खबर पाकर फौरन पुलिस मौके पर पहुंची और नवजात को अस्पताल पहुंचाया.

ये भी पढ़ें-इस शहर में सचिन तेंदुलकर ने रचा था इतिहास, सम्मान में आज तक नहीं बदला बोर्ड पर डिस्प्ले स्कोर

शिशु SNCU में भर्ती
नवजात शिशु के सिर, घुटने और पंजे पर जख्म हो गए हैं. इसलिए उसे फौरन शिवपुरी जिला अस्पताल के SNCU में भर्ती कराया गया.बच्चा स्वस्थ है और उसका वजन भी बिलकुल ठीक है. लेकिन वो किसका है. किसने यहां फेंका इसका कोई अनुमान नहीं है. फिलहाल बच्चे का इलाज जारी है.

आपके शहर से (शिवपुरी)

मध्य प्रदेश

मध्य प्रदेश

Tags: Madhya pradesh latest news, New born, Shivpuri News

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.