यूक्रेन पर रूस के हमले के बीच ट्विटर से हुई ये गलती, सामने आई CEO की सफाई


लंदन: रूस (Russia) द्वारा गुरुवार को यूक्रेन के खिलाफ सैन्य हमला शुरू होते ही ट्विटर (Twitter) ने कई शोधकर्ताओं के खातों को ब्लॉक कर दिया. दुनियाभर में कई लोगों के अपना अकाउंट ब्लॉक होने की जानकारी साझा की थी. इस बीच ट्विटर ने स्वीकार किया है कि एक गलती की वजह से रूसी सैन्य गतिविधि के बारे में विवरण साझा करने वाले कई खातों को हटा दिया गया है. रूस-यूक्रेन (Russia-Ukraine Crisis ) की जानकारी साझा करने वाले कई शोधकर्ताओं ने बुधवार देर रात से अपने ट्विटर खातों को ‘अप्रत्याशित रूप से’ निलंबित पाया.

ट्विटर की सफाई

ट्विटर के साइट इंटीग्रिटी चीफ योएल रोथ ने एक ट्वीट में कहा कि कंपनी की ह्यूमन मॉडरेशन टीम से गलती हुई है. उन्होंने अपनी पोस्ट में लिखा, ‘हमारे काम के हिस्से के रूप में हेरफेर करने वाले मीडिया को सक्रिय रूप से संबोधित करने के सिलसिले में ह्यूमन एरर की वजह से ऐसा हुआ. हम इस मामले को ठीक कर रहे हैं और इससे प्रभावित लोगों तक पहुंच रहे हैं. 

OSINT के पैनलिस्ट ने दी जानकारी

इससे पहले, ओपन-सोर्स इंटेलिजेंस (OSINT) के विश्लेषक, ओलिवर अलेक्जेंडर ने कहा, ‘मैं 24 घंटों में दो बार ब्लॉक होने के बाद फिर से वापस आ गया हूं. पहली बार ‘तोड़फोड़/ हमले’ को खारिज करने वाली पोस्ट के लिए और दूसरी बार ‘रूस में यूक्रेनी हमले’ को खारिज करने वाली एक पोस्ट के लिए मुझे ब्लॉक किया गया था.

ये भी पढ़ें- यूक्रेन की महिलाओं को मिलने बुला रहे रूसी सैनिक! तस्वीरों के साथ आ रहे ऐसे-ऐसे मैसेज

ग्लेन के ट्वीट और एक अन्य ओएसआईएनटी संगठन द्वारा साझा किए गए एक पोस्ट के अनुसार, ओएसआईएनटी के शोधकर्ता काइल ग्लेन को भी 12 घंटे के लिए उनके खाते से बाहर कर दिया गया था. द वर्ज की रिपोर्ट के अनुसार, सुरक्षा विश्लेषक ओलिवर अलेक्जेंडर ने भी 24 घंटों में दो बार अपने खाते से बाहर होने का दावा किया है. पहले के एक बयान में, एक ट्विटर प्रवक्ता ने कहा कि इन खातों के खिलाफ गलती से कार्रवाई की गई थी और यह एक समन्वित अभियान का हिस्सा नहीं था.

(आईएएनएस इनपुट के साथ)

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.