Russia-Ukraine war news: क्या हो रहा है यूक्रेन में… कौन कर रहा है रूस का समर्थन… जानिए वो जरूरी बातें जो आपको पता होनी चाहिए


ब्रसेल्स: विश्व के नेता यह देखने के लिए इंतजार कर रहे हैं कि क्या रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन यूक्रेन के भीतर अपने सैनिकों (Russia-Ukraine war news) को भेजेंगे। रूसी सांसदों ने पुतिन को देश के बाहर सैन्य बल का इस्तेमाल करने के लिए अधिकृत किया है और यूक्रेन तीन तरफ से 1,50,000 से अधिक सैनिकों से घिरा हुआ है। ऐसे में तोपों की गड़गड़ाहट बहुत दूर नहीं है।

अमेरिका और यूरोप के उसके सहयोगी देशों ने आरोप लगाया है कि रूस यूक्रेन के अलगाववादी क्षेत्रों में सेना की तैनाती कर खतरे की रेखा को पहले ही लांघ चुका है। यूक्रेन के अधिकारियों ने हफ्तों तक शांति बनाए रखने की कोशिशों के बाद बढ़ती चिंता का संकेत दिया। यहां यूक्रेन पर संघर्ष और पूर्वी यूरोप में सुरक्षा संकट के बारे में जानने योग्य बातें हैं:

पुतिन ने मास्को में दिवंगत सैनिकों को याद किया

रूस ने ‘डिफेंडर ऑफ फादरलैंड डे’ को मनाया। मास्को के रेड स्क्वायर के आसपास सैनिकों ने अज्ञात सैनिक के मकबरे को सजाया, जबकि पुतिन ने पिछले युद्धों में मारे गए लोगों-जवानों को याद किया।

पुतिन ने सोमवार को आक्रामक भाषण के साथ रूसी राष्ट्रवाद को नया आयाम देने का प्रयास किया। उन्होंने बुधवार के स्मरणोत्सव के दौरान कहा कि रूस अपनी सेना और नौसेना को मजबूत और आधुनिक बनाना जारी रखेगा। उन्होंने कहा, ‘‘रूस अपनी सेना का प्रभाव बढ़ाने का प्रयास कर रहा है, इसलिए वे सबसे अत्याधुनिक उपकरणों से लैस हैं।’’

पूर्वी यूक्रेन में अलगाववादियों के कब्जे वाले क्षेत्रों में से एक दोनेत्सक में विद्रोही सरकार के प्रमुख डेनिस पुशलिन ने एक बयान जारी कर रूसी अवकाश को चिह्नित किया और क्षेत्र की स्वतंत्रता को मान्यता देने के लिए पुतिन के फैसले का जश्न मनाया।

यूक्रेन में क्या हो रहा है?

यूक्रेन सरकार ने अपने नागरिकों को रूस की यात्रा नहीं करने की सलाह दी और परामर्श में कहा है कि जो भी उस देश में हैं उन्हें तुरंत निकल जाना चाहिए।

यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की ने रूसी आक्रमण का खतरा बढ़ने के बीच आरक्षित रखे गए देश के कुछ सैन्यकर्मियों को ड्यूटी पर बुलाया है। जेलेंस्की ने कहा, ‘‘हमें यूक्रेनी सेना और अन्य सैन्य संरचनाओं में अतिरिक्त कर्मचारियों को जल्दी से जोड़ने की जरूरत है।’’

यूक्रेन की राष्ट्रीय सुरक्षा और रक्षा परिषद के प्रमुख ओलेक्सी डेनिलोव ने देश भर में आपातकाल की स्थिति का आह्वान किया। यह संसद की मंजूरी के अधीन है। डेनिलोव ने कहा कि इसमें सार्वजनिक सुविधाओं के लिए अतिरिक्त सुरक्षा, यातायात पर प्रतिबंध और दस्तावेजों की जांच जैसे कदम शामिल हो सकते हैं।

कीव ने पूर्वी यूक्रेन में संघर्ष प्रभावित क्षेत्र में सुबह में गोलाबारी की 29 घटनाओं की सूचना दी। पूर्वी क्षेत्र में विद्रोहियों ने 2014 में रूसी घुसपैठ के बाद से बड़े क्षेत्रों पर कब्जा कर लिया। वहीं, अलगाववादियों ने कहा कि यूक्रेनी बलों की ओर से गोलाबारी में वृद्धि हुई है।

इस बीच, रूस पर अमेरिका, ब्रिटेन, ऑस्ट्रेलिया समेत कई देशों ने कई तरह के प्रतिबंध लगाने की भी घोषणा की है।

Russia-Ukraine war news: अमेरिका की चेतावनी के बाद यूक्रेन ने की राष्ट्रीय आपाताकाल की घोषणा, 48 घंटों में रूस कर सकता है हमला!
संकट के समय रूस का कौन समर्थन कर रहा ?

रूस अकेले अपने दम पर बाकी दुनिया का सामना नहीं कर रहा है। चीन का रुख रूस की ओर झुका हुआ है और उसने अमेरिका पर यूक्रेन संकट को बढ़ावा देने का आरोप लगाया है।

चीन के विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हुआ चुनयिंग ने बुधवार को कहा कि चीन रूस पर नए प्रतिबंधों का विरोध करता है और चीन के पुराने रूख को दोहराता है। उन्होंने कहा कि यूक्रेन की सीमाओं के आसपास रूसी सैनिकों की तैनाती और आक्रमण की आशंका के जवाब में अमेरिका कीव को हथियार प्रदान करके तनाव बढ़ा रहा है।

Ukraine Russia War: यूक्रेन में घुसी रूसी सेना, तीसरे विश्व युद्ध में बदल सकता है संकट ?

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.