delhi crime news: Delhi Crime News: दिल्ली में कोकीन के बड़े गिरोह का भंडाफोड़, 10 करोड़ रुपये का नशीला पदार्थ जब्त – big gang of cocaine busted in delhi narcotics worth rs 10 crore seized


नई दिल्ली: दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने कोकीन तस्करों के एक अंतर-महाद्वीपीय (Intercontinental) सिंडिकेट का भंडाफोड़ किया है। पुलिस ने 1,850 ग्राम प्रतिबंधित पदार्थ बरामद किया है। जिसकी अंतर्राष्ट्रीय बाजार में लगभग 10 करोड़ रुपये कीमत है। इस मामले में दक्षिण अमेरिका के सूरीनाम की रहने वाली मौरी एर्ना गंगादियान (45) और नवी मुंबई की रहने वाली नमुबीरु जनत (35) और युगांडा की रहने वाली दो महिलाओं को इस सिलसिले में गिरफ्तार किया गया है।

जानकारी देते हुए पुलिस उपायुक्त (काउंटर इंटेलिजेंस, स्पेशल सेल) मनीषी चंद्रा ने कहा, सिंडिकेट का संचालन दक्षिण अमेरिका में स्थित इसके प्रमुख लोगों की ओर से किया जा रहा था, जो मुंबई, बेंगलुरु, अहमदाबाद और दिल्ली में नोड्स के साथ थे। डीसीपी चंद्रा ने कहा, ‘पिछले कई महीनों से महिलाओं के पर्स और कॉस्मेटिक सामानों में चालाकी से पैकिंग करके भारत में तस्करी की जा रही थी।’

Nawab Malik: तीन मार्च तक ईडी की कस्टडी में भेजे गए नवाब मलिक, मनी लॉन्ड्रिंग मामले में हुई थी गिरफ्तारी
अधिकारियों के अनुसार, स्पेशल सेल की काउंटर इंटेलिजेंस यूनिट भारत में सक्रिय कोकीन-विशिष्ट कार्टेल पर खुफिया जानकारी जुटा रही है। निरंतर खुफिया कार्रवाई के बीच, 14 फरवरी को एक विदेशी राष्ट्रीय महिला की दिल्ली में आवाजाही के संबंध में एक विशिष्ट इनपुट प्राप्त हुआ था, जिसे बताया गया था कि विदेशों से कोकीन की महत्वपूर्ण मात्रा में लाया गया था। इनपुट पर कार्रवाई करते हुए, एक टीम ने दिल्ली के करोल बाग इलाके के एक होटल में छापा मारा, जहां आरोपी महिला मौरे एर्ना गंगाडियन 11 फरवरी से रह रही थी।

China Taiwan News: ताइवान यूक्रेन नहीं है… चीन की धमकी का मतलब तो जानें, क्या आपदा में अवसर तलाश रहा बीजिंग?
अधिकारी ने कहा, ‘एनडीपीएस अधिनियम के तहत शर्तों का पालन करने के बाद, उसके होटल के कमरे में एक तलाशी अभियान चलाया गया था और 1 किलो से अधिक अच्छी गुणवत्ता वाली कोकीन, अच्छे तरीके और पेशेवर रूप से महिलाओं के पर्स, कंटेनर आदि में पैक किया गया था।’ तदनुसार आरोपी को गिरफ्तार किया गया और पुलिस हिरासत में भेज दिया गया, जहां पूछताछ के दौरान, आरोपी ने खुलासा किया कि उसने अपने पारामारिबो,सूरीनाम स्थित संचालकों के निर्देश पर प्रतिबंधित पदार्थ का ट्रांसपोर्ट किया था, जो दक्षिण अमेरिकी उत्पादक देशों जैसे मैक्सिको आदि से संचालित अन्य कार्टेल से जुड़े हैं और कई अफ्रीकी देशों में प्रमुख ट्रांसशिपमेंट पार्टनर हैं।

IPL 2022 लीग स्टेज के सबसे ज्यादा मैच मुंबई में, अहमदाबाद में हो सकता है फाइनल, कल मीटिंग
यह भी पता चला कि 14 फरवरी को, उसकी गिरफ्तारी से पहले, आरोपी ने उसके द्वारा लाई गई खेप का एक हिस्सा नवी मुंबई, महाराष्ट्र की निवासी लिसा नामक एक अन्य विदेशी राष्ट्रीय महिला को दिया था। तदनुसार, संदिग्ध लिसा की गतिविधियों की पहचान करने और उस पर नजर रखने और कथित तौर पर प्राप्त प्रतिबंधित सामग्री को दोबारा हासिल करने के प्रयास किए गए थे। 21 फरवरी को, (संदिग्ध लिसा जिसका असली नाम नमुबीरू जनत था) को दक्षिण दिल्ली से पकड़ा गया था, जब वह पहले आरोपी से ली हुई कोकीन को ले जा रही थी। उसे भी गिरफ्तार कर लिया गया और पुलिस रिमांड में ले लिया गया जिसके बाद उसने कोकीन की और बरामदगी की।

Nawab Malik News:’मंत्रिमंडल से नवाब मलिक को हटाने की जरूरत नहीं’ ममता बनर्जी ने एनसीपी चीफ शरद पवार को किया फोन
अधिकारी ने कहा, ‘आरोपी नमुबीरू जनत के पास युगांडा का पासपोर्ट है और वह भारत में कई जगहों पर रह रहा है। उसके मूवमेंट रिकॉर्ड से पता चलता है कि वह लगभग रोजाना ही बेंगलुरू, अहमदाबाद आदि जैसे विभिन्न महानगरों के लिए उड़ानें भरती रही हैं।’ पुलिस ने संबंधित दूतावासों को उनकी गिरफ्तारी के बारे में सूचित कर दिया है और आगे की जांच जारी है।

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.