सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा- कई विश्वविद्यालयों में भी साबित हुआ कि सभी भारतीयों का डीएनए एक है



सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा कि पश्चिमी देशों में हिंदू और हिंदुओं की एकता को निशाना बनाया जा रहा है, जबकि हम कास्ट सिस्टम खत्म कर रहे हैं।

देश में हिंदू और हिंदुत्व को लेकर खूब बहस चलती है। कांग्रेस पार्टी और कांग्रेस के उपाध्यक्ष राहुल गांधी भी हिंदुत्व को लेकर बीजेपी-आरएसएस पर लगातार निशाना साधते रहते हैं। अब हिंदुत्व को लेकर बीजेपी के सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने एक बड़ा बयान दिया है। बीजेपी सांसद ने एक बातचीत के दौरान कहा कि सभी भारतीयों का डीएनए एक है।

सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा कि दुनिया के हर कोने में हिंदू चेतना जिसे हिंदुत्व कहते हैं, उसपर हमला किया जा रहा है। दुनिया के कई विश्वविद्यालयों में इसको लेकर सेमिनार आयोजित किए जा रहें हैं और हिंदू-हिंदुत्व के बारे में झूठ फैलाया जा रहा है। स्वामी ने कहा कि शंकराचार्य ने बुद्धों से हिंदुत्व पर बहस किया और शर्त रखी कि अगर आप बहस हार जाएंगे तो हिंदू धर्म में परिवर्तित हो जाएंगे। अगर हम हारेंगे तो हम हिंदू धर्म में परिवर्तित होंगे। लेकिन शंकराचार्य सभी बहस जीतते चले गए और आज स्थिति यह है कि 85% बुद्ध हिंदू में परिवर्तित हो गए।

सुब्रमण्यम स्वामी ने आगे कहा कि, “कई विश्वविद्यालयों में यह साबित हो चुका है कि सभी भारतीयों का डीएनए एक है। मैसूर यूनिवर्सिटी, कैंब्रिज यूनिवर्सिटी , ह्यूस्टन यूनिवर्सिटी में साबित हो चुका है कि उत्तर से दक्षिण तक और पूरब से पश्चिम तक सभी भारतीयों का डीएनए एक है। इसका मतलब होता है कि एक ही लोग हैं। यहां तक कि मुस्लिमों का डीएनए भी एक है। इससे पता चलता है कि 99.99 फीसदी मुस्लिमों ने धर्म परिवर्तन किया था। जो डीएनए अनुसूचित जाति के लोगों का है वही ब्राह्मणों का भी है।”

सुब्रमण्यम स्वामी ने आगे कहा कि ब्राह्मण वह है जिनके अंदर ब्राह्मण के गुण है जैसे ज्ञान,त्याग और साहस। यह मैं आपको रिसर्च की बातें नहीं बता रहा हूं, बल्कि यह सब गीता में लिखा है। ब्राह्मण कुल में पैदा होने से ही कोई ब्राह्मण होता है, छत्रिय कुल में पैदा होने से ही कोई क्षत्रिय होता है ,ऐसा नहीं है। महर्षि वाल्मीकि क्षत्रिय कुल में पैदा हुए थे लेकिन वह बड़े महर्षि बने। यहां तक कि देवता भी उनसे डरते थे।”

सुब्रमण्यम स्वामी ने बातचीत के दौरान कहा कि, “पश्चिमी देशों में हिंदुओं को और हिंदुओं की एकता को निशाना बनाया जा रहा है। यहां तक की हम (हिन्दू) कास्ट सिस्टम को धीरे-धीरे खत्म कर रहे हैं, लेकिन फिर भी हमें निशाना बनाया जा रहा है। बहुत से लोग हैं जो किसी को मार डालते हैं ,लेकिन हम कैसे जानेंगे कि वह कौन है, जब तक आप उन्हें पकड़ेंगे नहीं और सजा नहीं देंगे। यहां तक कि जो लोग किसी की हत्या में पकड़े गए हैं (गौहत्या मामले में) और उन्हें सजा मिली है, हमने पाया है कि उनका हिंदू संगठनों से कोई लेना देना नहीं है।”

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.