delhi murder crime news: एकतरफा प्यार में सिरफिरे आशिक ने हथौड़े से फोड़ा लड़की का सिर, घर जाकर फंदे से झूला


विशेष संवाददाता, नई दिल्लीः 22 साल की लड़की के सिर पर हथौड़े से ताबड़तोड़ वार किए। लड़की सड़क पर तड़पकर अचेत हो गई। आरोपी को लगा मर गई है। वह अपने घर गया और फांसी लगा जान दे दी। सिर की कई हड्डियां टूटने से लड़की की हालत गंभीर है। वह मैक्स पटपड़गंज में वेंटिलेटर पर है। नॉर्थ ईस्ट जिला के ज्योति नगर पुलिस ने हत्या के प्रयास का केस दर्ज किया है। हथौड़ा बरामद कर लिया है। कातिलाना हमला कर खुदकुशी करने वाले शेखर (24) का घर दिल्ली से सटे लोनी में पड़ता है। जीटीबी अस्पताल में पोस्टमॉर्टम के बाद लोनी पुलिस ने बॉडी परिजनों को सौंप दी है।

पुलिस के मुताबिक, पीड़ित लड़की ज्योति नगर के मीत नगर में रहती है। फैमिली में माता-पिता के अलावा एक बहन और तीन भाई हैं। लड़की खुद एक स्टोर पर जॉब करती थी। सोमवार सुबह स्टोर के लिए निकली थी। घर के नजदीक 20 फुटा रोड पर पहुंची तो शेखर हथौड़ा लेकर आ गया। पीड़िता के सिर पर जोरदार वार कर दिया। इससे वह अचेत हो गई, शेखर फरार हो गया। लोगों ने पीड़िता के पिता को सूचना दी, जो खून से लथपथ बेटी को जीटीबी अस्पताल लेकर गए, जहां से मैक्स रेफर कर दिया गया।

शादी का झांसा देकर MBBS स्टूडेंट के साथ रेप, सिविल सर्विसेज की तैयारी कर रहा है आरोपी जयपुर से अरेस्ट
घर जाकर आरोपी ने की खुदकुशी
ज्योति नगर थाना पुलिस तफ्तीश करने लगी तो पता चला कि आरोपी शेखर ने भी खुदकुशी कर ली। मीत नगर से सटे गाजियाबाद जिला के लोनी के राजनगर स्थित अपने घर की पहली मंजिल पर शॉल के सहारे उसकी बॉडी लटकी मिली। पुलिस को पता चला है कि शेखर के पिता मीत नगर में पीड़िता के घर के पास ढाबा चलाते हैं। शेखर भी पिता की मदद के लिए ढाबे पर बैठता था। यहीं उसने पीड़िता को देखा। जब पता चला कि पीड़िता की शादी की बात चल रही है तो जानलेवा हमला कर दिया।

परिजन हैरान, यह सब कैसे हो गया

पीड़िता के परिजनों ने बताया कि पिता ने सिलाई का काम करके बच्चों को बहुत ही मेहनत से पढ़ाया है। किराए पर रहते हैं। एक बेटी पैरामिलिट्री फोर्स में हवलदार है, जबकि एक भाई यूपी पुलिस में सिपाही है। दो छोटे भाई स्कूल में हैं। घर में रिश्तेदारों का जमावड़ा लगा है। किसी को समझ नहीं आ रहा कि अचानक यह सब कैसे हो गया। आसपास के लोगों का कहना है कि शेखर ढाबे में आता था, जो पीड़िता की गली के नुक्कड़ पर मेन रोड पर ही है।

एक रुपये में पक्की की शादी, क्रेटा का टॉप मॉडल नहीं मिला तो तोड़ दिया रिश्ता
शादी की खुशी, मौत का मातम
शेखर की फैमिली में पिता महेंद्र, मां, चार भाई और एक बहन हैं। शेखर के बड़े भाई की शादी 17 फरवरी को ही हुई थी। अभी घर में शादी का ही माहौल था। लेकिन उसके इस कदम से पूरा परिवार सदमे में है। पिता महेंद्र ने बताया कि वह कई साल से मीत नगर में ढाबा चलाते हैं। पीड़ित लड़की भी वहीं रहती है।

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.